DA Image
21 सितम्बर, 2020|5:08|IST

अगली स्टोरी

डुमरांव में काव नदी का तट बन गया है कूड़ा डम्पिंग यार्ड

default image

डुमरांव। निज संवाददाता

नगर के पूर्वी छोर पर बहने वाली काव नदी अपने अस्तित्व की लड़ाई लड़ रही है। नदी अब नाला का रूप धारण कर ली है। नगर परिषद उस वजूद को भी मिटाने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा है। समय रहते नहीं बचाया गया तो आने वाले दिनों में यह नदी केवल सेटेलाइट के माध्यम से ही पहचानी जाएगी।

नदी के चौड़े पाट को नप ने कूड़े का डंपिंग यार्ड बना दिया है। शहर से निकलने वाला कचरा नदी के पाट पर गिराकर उसका अतिक्रमण तो कर ही रहा है। पानी भी प्रदूषित हो रहा है। हाईकोर्ट व राज्य सराकर जल स्त्रोतों का उद्धार करने के लिए आदेश पारित कर रहा है, लेकिन उसे देखने वाला कोई नहीं है।

वर्ष 2019 में चर्चा में आयी थी काव नदी

रोहतास की पहाड़ियों से निकल कर आने वाली काव नदी जिले के नावानगर में प्रवेश करती है। वर्तमान स्थिति ऐसी है कि इसका जलस्त्रोत सूखता जा रहा है। तत्कालीन डीएम राघवेन्द्र सिंह, डीडीसी अरविंद कुमार वरीय उप समहर्ता कुमार अनुज व नावानगर मनरेबा पीओ सुधांसु पांडेय की देखरेख में एक योजना बनाई गई थी। नावानगर गांव के आथर पंचायत में मनरेगा योजना के तहत नदी के पाट को चौड़ा और गहरा किया गया था। नतीजा यह निकला की भीषण गर्मी में पानी की कमी नहीं हुई। काव नदी में पानी रहने से लगता था कि मिटे वजूद को हासिल कर रही है। पानी से खेती हुई और किसान काफी खुश हुए। इस योजना का राज्य में भेजा गया। जहां खूब वाहवही लूटी गई। इतना ही नहीं इसे केन्द्र सरकार के पास भी भेजा गया। परंतु महज दस किलोमीटर की दूरी पर डुमरांव में बहने वाली काव नदी को नप चौड़ीकरण करने के बजाए इसे विलुप्त करने में जुट गयी है।

टीम ने किया था दौरा

आईआईटी खड़गपुर की टीम दौरा किया था। इसके अगुआ थे, प्रो. केपवीएल श्रीवास्तव, जिन्होंने इस योजना का काफी सराहा था। उन्होंने अधिकारियों से बात कर इसके पुर्नरोद्धार की बात कही थी। परंतु इसका सबकुछ हो जाने के बाद भी नगर परिषद डुमरांव के अधिकारियों व कर्मियों की निंद नहीं खुल पाई है। वह लगातार इस नदी के पाट को अतक्रमण कर रहा है और करने की खुली छूट दे रखा है। वरीय अधिकारी भी इस पर मौन धारण किए हुए हैं। ऐसे में सहज अनुमान लगाया जा सकता है कि सरकार और कोर्ट के आदेश का कितना पालन किया जा रहा है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Garbage dumping yard has become the bank of Kava river in Dumraon