ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार बक्सरडुमरांव-एकौनी सड़क जर्जर होने से राहगीर परेशान

डुमरांव-एकौनी सड़क जर्जर होने से राहगीर परेशान

आक्रोश मार्ग से प्रतिदिन सैकड़ों मजदूर निकलते हैं काम की तलाश में छात्र-छात्राओं को स्कूल-कॉलेज जाने में भी होती है परेशानी डुमरांव, निज संवाददाता। एक तरफ जहां सरकार हर गांवों को पक्की सड़क से जोड़...

डुमरांव-एकौनी सड़क जर्जर होने से राहगीर परेशान
हिन्दुस्तान टीम,बक्सरSat, 25 May 2024 08:15 PM
ऐप पर पढ़ें

आक्रोश
मार्ग से प्रतिदिन सैकड़ों मजदूर निकलते हैं काम की तलाश में

छात्र-छात्राओं को स्कूल-कॉलेज जाने में भी होती है परेशानी

डुमरांव, निज संवाददाता। एक तरफ जहां सरकार हर गांवों को पक्की सड़क से जोड़ रही है। वहीं, डुमरांव-एकौनी सड़क जर्जर होने से राहगीरों को आवागमन में परेशानी झेलनी पड़ रही है। इस सड़क की मरम्मत के लिए ग्रामीण आंदोलन भी कर चुके हैं। जिसके बाद सड़क निर्माण कराने का आश्वासन मिला। लेकिन, आश्वासन के बाद भी सड़क की स्थिति जस की तस है। इस सड़क से शहर में आने के लिए कई गांव जुड़े हैं। इन गांवों में रहनेवाले किसान और मजदूर काम की तलाश में शहर आते हैं। वहीं, स्कूल-कॉलेज में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं को भी काफी परेशानी होती है। एकौनी सिद्धि महुआ से लेकर पीड़िया काली मंदिर तक सड़क का नामोनिशान मिट गया है। गढ्ढों से भरे इस सड़क पर पैदल चलना भी मुश्किल है। यह सड़क पुराना भोपुर को भी जोड़ता है। ग्रामीण विशोकाचंद्र, इस्लाम अंसारी, भीम गोंड, महेन्द्र यादव, धनजी यादव, गीता देवी, सविता देवी, कमल दूबे, निठाली शर्मा सहित दर्जनों लोगों ने बताया कि सड़क की मरम्मत कराने के लिए जन आंदोलन चलाया गया था। तब अधिकारियों से लेकर नेताओं ने सड़क बनाने का आश्वासन दिया, लेकिन आज तक काम शुरू नहीं हुआ। गांव में किसी बीमार या प्रसूता महिला को असपताल पहुंचाना होता है तो खाट का सहरा लेना पड़ता है। गांव की बच्चियां साइकिल से स्कूल जाती है। लेकिन, सड़क जर्जर होने से उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।