DA Image
18 अप्रैल, 2021|11:13|IST

अगली स्टोरी

स्टेशन और ट्रेनों में कोरोना गाइड लाइन का नहीं हो रहा पालन

default image

डुमरांव। निज प्रतिनिधि

कोरोना के कहर से डुमरांव अनुमंडल का इलाका भले ही उबर गया है। लेकिन लागातार बरती जा रही लापरवाही आबादी पर भारी पड सकता है।पटना से डीडीयू के बीच चलने वाली एकमात्र पैसेंजर ट्रेन में इतनी भीड हो रही है कि सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड रही है।अस्सी प्रतिशत लोग वगैर मास्क के सफर कर रहे है।

एकमात्र पैसेंजर पर बढा यात्रियों का दबाव ः पटना से पंडित दीन दयाल स्टेशन को एकमात्र पैसेंजर 03229 और 03230 का परिचालन हो रहा है। इस ट्रेन से हर दिन काफी संख्या में यात्री पटना से बक्सर के बीच सफर करते है।एकमात्र ट्रेन होने के कारण डिब्बों में इतनी भीड होती है कि पैर रखने की जगह नहीं मिलती है।उस पर लगभग अस्सी प्रतिशत यात्री वगैर मास्क के सफर कर रहे है।कोरोना गाइड लाइन का पालन नहीं होने के कारण कोरोना का खतरा बढने की संभावना बढने लगी है।यात्रियों ने कहा कि भीड को कम करने के लिए रेलवे एक और ट्रेन का परिचालन शुरु करे। ताकि यात्रियों को राहत मिल सके।

बाहर से आने वालों की नहीं हो रही जांचः कोरोना प्रभावित राज्यों से यहां आने वाले यात्रियों की जांच नहीं हो रही है।शुरुआती दौर में श्रमजीवी और अन्य ट्रेनों से सफर करने वालों की थर्मल स्क्रीनिंग होती थी। लेकिन यह सबकुछ काफी दिनों से बंद है।रेलवे के अधिकारिक सूत्रों का कहना है कि सफर करने वाले हर यात्री को कोरोना गाइड लाइन का पालन करना है।लेकिन छोटे स्टेशनों पर गाइड लाइन के पालन में लापरवाही बरती जा रही है। डुमरांव में श्रमजीवी,फरक्का एक्सप्रेस और दादर गौहाटी का ठहराव होता है। कोरोना प्रभावित राज्यों से यात्री इन ट्रेनों से पहुंच रहे है। होली में भी काफी संख्या में यात्री परदेश से लौटेगें। ऐसे में कोरोना संक्रमण का खतरा बढने की संभावना है।अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि कोरोना गाइड लाइन के पालन कराने की दिशा में कार्रवाई होगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Corona guide line not being followed in stations and trains