DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  बक्सर  ›  डेढ़ साल से ठप पडा है टुडीगंज फुट ओवर ब्रिज का निर्माण

बक्सरडेढ़ साल से ठप पडा है टुडीगंज फुट ओवर ब्रिज का निर्माण

हिन्दुस्तान टीम,बक्सरPublished By: Newswrap
Sun, 14 Mar 2021 11:30 AM
डेढ़ साल से ठप पडा है टुडीगंज फुट ओवर ब्रिज का निर्माण

डुमरांव। निज प्रतिनिधि

दानापुर-बक्सर रेल खंड पर टूडीगंज एक ऐसा स्टेशन है, जहां ट्रेन की चपेट में आकर लोग बेमौत मर रहे है।स्टेशन के प्लेटफार्म पर फुटओवर ब्रिज नहीं होने के कारण हर पल जीवन पर खतरा मंडराता रहता हैं। ट्रैक पार करने के दौरान दर्जनों लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। रेलवे ने फुट ओवर ब्रिज के निर्माण की घोषणा की थी। लेकिन, निर्माण का कार्य पिछले डेढ़ साल से ठप है। काम बंद होने पर यात्री कल्याण समिति ने आक्रोश व्यक्त किया है। समिति ने कहा है कि निर्माण कार्य शीघ्र शुरू नहीं हुआ,तो आंदोलन की शुरुआत करने को बाध्य होना पड़ेगा।

सुदूर ग्रामीण इलाके को जोडता है स्टेशन

दानापुर मंडल के आरा और डुमरांव के बीच अवस्थित टूडीगंज रेलवे स्टेशन डुमरांव,चौगाई, चक्की प्रखंड और यूपी के सटे गांवों को जोडता है। इस इलाके के लोग टूडीगंज से अपना सफर शुरू करते हैं। रेल सूत्रों के अनुसार लॉकडाउन से पहले यहां से प्रतिदिन लगभग सोलह सौ यात्रियों का आना-जाना होता था। अभी यह संख्या थोडी कम है। टूडीगंज स्टेशन से रेलवे को प्रतिवर्ष पैसठ लाख रुपया राजस्व के रुप में प्राप्त होता रहा है।परंतु स्टेशन पर यात्रियों की सुरक्षा को लेकर कोई ठोस व्यवस्था नहीं है। अप में उतरने वाले यात्रियों को हर हाल में ट्रैक क्रांस करना पडता है।रेहिया, सोवा और छतनवार सहित अन्य गांवों के लोगों को बाजार जाने के लिए लाइन क्रांस करना पडता है।

चढ़ रही लोगों की बलि,रेलवे नहीं है गंभीर

टिकट लेने के लिए यात्रियों को एक नंबर प्लेटफार्म पर जाना पडता है।डाउन में ट्रेन पकडने के लिए ट्रैक क्रांस करना पडता है। ट्रैक क्रांस करने में अब तक सैकड़ों लोगों की बलि चढ चुकी है।दो साल पहले एक महिला की मौत पर हायतौबा मच गयी थी। उस वक्त रेलवे के तत्कालीन जीएम ए.के.मितल ने टूडीगंज स्टेशन पर फुटओवर ब्रिज बनाने की घोषणा की थी।घोषणा के बाद निर्माण के लिए टेंडर भी हुआ।रेल सूत्रों ने बताया कि टूडीगंज में 23.640 मीटर लंबा और 3.250 मीटर चौडा फुट ओवर ब्रिज का निर्माण होना है।निर्माण की जिम्मेवारी एक निजी कंपनी को सौपी गयी है।

काम बंदकर गायब हुई कंपनी

डेढ साल पहले जब फुट ओवर ब्रिज के निर्माण का काम शुरु हुआ,तो लोगों में काफी उत्साह था।लोगों का मानना था कि निर्माण के बाद ट्रैक पार करने की जोखिम से मुक्ति मिल जाएगी। टूडीगंज यात्री कल्याण समिति के अध्यक्ष कार्मेद्र सिंह ने बताया कि दो साल पहले काम शुरू हुआ था। उस वक्त कंपनी से जुडे कर्मी दोनों तरफ गढ्ढा खोद काम बंद कर ठीकेदार गायब हो गया था। उसके बाद काम शुरु हुआ,तो पीलर गाडकर कर्मी गायब हो गये। उन्होंने बताया कि छह माह में निर्माण को पूरा कर लेना था। लेकिन संवेदक की लापरवाही के कारण निर्माण पर ग्रहण लग गया है। समिति ने स्पष्ट कहा है कि ठेकेदार शीघ्र काम शुरू करे अन्यथा समिति आंदोलात्मक कदम उठाने को बाध्य होगी।इसे लेकर रेल यात्री कल्याण समिति ने जीएम को आवेदन भी दिया है। इधर रेलवे के अधिकारिक सूत्रों का कहना है एक साथ अन्य जगहों पर काम चल रहा है। कुछ कारण से काम रुका हुआ है। लेकिन कुछ दिनों के भीतर ही निर्माण कार्य शुरु कर दिया जाएगा।

संबंधित खबरें