DA Image
1 दिसंबर, 2020|8:21|IST

अगली स्टोरी

बक्सर: रेलवे के निजीकरण के खिलाफ धरना

default image

बक्सर। निज संवाददाता

अखिल भारतीय रेल अचाओ, देश बचाओ संघर्ष समिति के बैनर तले मंगलवार को स्थानीय स्टेशन पर धरना का आयोजन किया गया। जिसमें राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन- एनडीए के घटक दलों को छोड़कर सामाजिक कार्यकर्ताओं के साथ विरोधी पार्टियों के नेताओं ने एकजुटता के साथ पूरी ताकत दिखाई।

धरना पूर्वाह्न 11 बजे से अपराह्न 3 घंटे तक चला। जिसमें समिति के नेताओं के साथ सरकार विरोधी तकरीबन सभी राजनैतिक दलों के नेताओं ने शिरकत किया। इस दौरान रेलवे के निजीकरण के खिलाफ केन्द्र सरकार पर जमकर हमला बोला गया। नेतृत्व नवगठित समिति के राष्ट्रीय मुख्य संरक्षक मिथिलेश कुमार सिंह व राष्ट्रीय संयोजक निसार अहमद ने संयुक्त रूप से की। धरना के बाद विरोध से संबंधित स्मार-पत्र रेल मंत्री के पास भेजा गया तथा एक प्रति स्टेशन पर चस्पाया गया। वक्ताओं ने कहा कि रेलवे को निजीकरण का फैसला गैर संवैधानिक है। मो.निसार अहमद ने कहा देश के सबसे बड़ी आर्थिक परिसंपति को निजी हाथों में सौंपने से राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा है। अतिथि सदर विधायक संजय कुमार तिवारी ने केन्द्र की मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि यह जन विरोधी निर्णय है तथा इससे अमजनता पर आर्थिक बोझ बढ़ेगा तथा कारपोरेट घरानों की मनमानी के कारण हजारों कर्मी बेरोजगार हो जाएंगे। इस मौके पर पूर्व मंत्री द्वय अखलाख अहमद व छेदी लाल राम, पूर्व सांसद व सीपीआई नेता तेजनारायण सिंह, पूर्व विधायक दाऊद अली, जेपी सेनानी व अधिवक्ता रविंदर गिरियागे, कमलेश कुमार सिंह, दिनेश कुमार सिंह, गणपति मंडल, साधना पांडेय, बालक दास, दीपचंद दास, बबलू यादव, राजेश कुमार, कवि कुमार नयन व गोविंद जायसवाल आदि मौजूद थे।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Buxar Protest against privatization of railways