DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  बक्सर  ›  हादसे में जख्मी युवक ने तोड़ा दम, मुआवजे के लिए रोड जाम

बक्सर हादसे में जख्मी युवक ने तोड़ा दम, मुआवजे के लिए रोड जाम

हिन्दुस्तान टीम,बक्सरPublished By: Newswrap
Fri, 30 Apr 2021 11:00 AM
 हादसे में जख्मी युवक ने तोड़ा दम, मुआवजे के लिए रोड जाम

डुमरांव। निज प्रतिनिधि

सडक हादसे में जीवन मौत के बीच जूझ रहे युवक ने पांचवें दिन दम तोड़ दिया। युवक की मौत की खबर आते ही प्रतापसागर गांव में मातम पसर गया। घटना से आक्रोशित लोगों ने मुआवजे की मांग को लेकर प्रतापसागर के समीप सडक जाम कर दिया था।सडकजाम की सूचना पर पहुंचे सीओ सुनील कुमार वर्मा ने मुआवजा देने की बात कह सड़क जाम खत्म कराया। नया भोजपुर ओपी क्षेत्र के नावाडेरा गांव के समीप 24 अप्रैल की सुबह बोलोरो चालक ने बाइक में जोरदार टक्कर मार दी थी। दुर्घटना में बाइक सवार अधेड की मौत हो गयी। जबकि बाइक सवार दूसरा युवक गंभीररुप से जख्मी हो गया था। बनारस के ट्रामा सेंटर में जख्मी ने दम तोड़ दिया।

खरीददारी कर लौटने के दौरान हुई घटनाः

नया भोजपुर ओपी के प्रतापसागर गांव निवासी कन्हैया यादव की बेटी की शादी थी। भतीजी की शादी के लिए खरीददारी कर लक्षीराम यादव गांव के युवक जग नारायण यादव के साथ बाइक से गांव लौट रहा था। तभी नावाडेरा के समीप बोलेरो ने बाइक में जोरदार टक्कर मार दी। दुर्घटना में लक्षीराम यादव की मौत हो गयी। जख्मी जयनारायण यादव का बनारस के ट्रामा सेंटर में इलाज चल रहा था। जहां गुरुवार को जख्मी ने दम तोड़ दिया।

मुआवजे के लिए सड़क पर उतरे लोग

जख्मी युवक की मौत की खबर आते ही प्रतापसागर गांव में मातम पसर गया। घटना से आक्रोशित होकर लोग सडकों पर निकल आये और आरा-बक्सर मार्ग को जाम कर दिया। सड़क जाम के दौरान लोग दोनों मृतक के परिवार को मुआवजा देने की मांग कर रहे थे।जाम की सूचना पर माले विधायक अजित कुशवाहा और सीओ सुनील कुमार वर्मा मौके पर पहुंचे और मुआवजे का भुगतान का आश्वासन दिया। आश्वासन के बाद जाम समाप्त हो गया। विधायक के हाथो़ं दोनों विधवाओं को बतौर मुआवजा चार-चार लाख का चेक दिया गया।

बेसहारा हो गया परिवार

जगनारायण की मौत के बाद पूरा परिवार बेसहारा हो गया है।मुआवजे के लिए सडकजाम का नेतृत्व कर रहे परिवर्तन एक पहल के जिलाध्यक्ष कृष्णा शर्मा ने बताया कि जगनारायण के बडे भाई की मृत्यु पांच साल पहले हो चुकी थी। पिता का देहांत दो माह पहले हो चुका था।दो बच्चों सहित परिवार की गाडी जगनारायण खीच रहा था। उसकी मौत पर पत्नी अंकिता देवी का रो रो कर बुरा हाल था। गांव के लोगों के चेहरे पर जगनारायण के खोने का दर्द झलक रहा था।

संबंधित खबरें