DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › बक्सर › पांडेयपट्टी में दक्षिण भारत के प्रसिद्ध मंदिर की तर्ज पर बन रहा भव्य पंडाल
बक्सर

पांडेयपट्टी में दक्षिण भारत के प्रसिद्ध मंदिर की तर्ज पर बन रहा भव्य पंडाल

हिन्दुस्तान टीम,बक्सरPublished By: Newswrap
Sun, 26 Sep 2021 09:10 AM
 पांडेयपट्टी में दक्षिण भारत के प्रसिद्ध मंदिर की तर्ज पर बन रहा भव्य पंडाल

बक्सर। हिन्दुस्तान संवाददाता

जिला मुख्यालय से लेकर सुदूर गांव-देहातों में दुर्गा पूजा की तैयारी चल रही है। कोरोना के चलते दो साल से दुर्गा पूजा का रौनक फीका पड़ गया था। कोरोना का मामला कम होते देख सरकार की ओर से पंडाल बनाने व पूजा करने की छूट मिलने के बाद पूजा समितियों के सदस्यों में काफी उत्साह है। जिला मुख्यालय से सटे पांडेयपट्टी स्थित ठाकुरबाड़ी में हर साल काफी भव्य पंडाल का निर्माण और धूमधाम से मूर्ति की स्थापना कर पूजा होती है। शहर से दूर होने के बाद भी रेलवे क्रॉसिंग पार कर पूरी रात दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा रहता है।

पांडेयपट्टी दुर्गा पूजा समिति के सचिव सत्येंद्र पांडेय ने बताया कि इस बार पैंसठ फुट ऊंचा भव्य पंडाल का निर्माण कराया जा रहा है, जिसका स्वरुप दक्षिण भारत के एक प्रसिद्ध मंदिर पर आधारित है। पंडाल के अंदर मां दुर्गा का दर्शन शेर पर सवार होकर महिषासुर का वध करते हुए दिखेगा। इस बार मूर्ति का निर्माण बंगाल के नामचीन मूर्तिकार मदन पाल कर रहे हैं। वहीं , पंडाल का निर्माण बंगाल के ही मिलन दा और बाबू सेटी कर रहे हैं। हर साल की तरह इस साल भी यहां का पंडाल जिलेवासियों के लिए आकर्षण का केंद्र रहेगा।

26 वर्षों से स्थापित की जा रही है मां की प्रतिमा:

पांडेयपट्टी स्थित ठाकुरबाड़ी में पांडेयपट्टी दुर्गा पूजा समिति की ओर से लगातार 26 वर्षों से मां की प्रतिमा स्थापित की जा रही है। दुर्गा पूजा में पांडेयपट्टी के सभी लोगों का सहयोग मिलता आ रहा है। समिति के सदस्यों ने बताया कि कोरोना के चलते इस बार थोड़ी बहुत आर्थिक परेशानी है, फिर भी पूजा में पांच से छह लाख रुपये खर्च होने का अनुमान है। यहां पर हर साल पूजा पंडाल का नया-नया स्वरुप बनाया जाता रहा है। इस बार भी दशहरा घुमने आने वाले लोगों के लिए दक्षिण भारत की मंदिर के तर्ज पर बन रहे पंडाल का स्वरुप काफी पसंद आएगा।

पांडेयपट्टी दुर्गा पूजा समिति के सक्रिय सदस्य:

पांडयेपट्टी दुर्गा पूजा समिति के सदस्य दिनों रात पूजा को सफल बनाने में लगे हैं। इस समिति में प्रदीप यादव, विक्की पांडेय, मृत्युंजय पांडेय, सत्येंद्र पांडेय, राजेश पांडेय, तुषार विजेता, संतोष यादव, छोटे बाबा, गोलू राय आदि सदस्यों की भूमिका सराहनीय है। सभी सदस्य गण विगत पंद्रह दिन से पूजा की तैयारी में जुटे हुए हैं।

पंडाल की विशेषता:

पांडेयपट्टी में बन रहे पूजा पंडाल की भव्यता देखने लायक होगी। पंडाल में कोरोना को लेकर सरकार की ओर से जारी गाइडलाइन का पूर्णत: पालन किया जाएगा। महिला एवं पुरुष श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए पंडाल के अंदर प्रवेश और निकास की व्यवस्था अलग-अलग होगी। यहां मां के दर्शन के लिए आने वाले सभी श्रद्धालुओं के बीच तीन दिनों तक अलग-अलग प्रसाद का वितरण किया जाएगा। बाजार समिति रोड से लेकर पूजा पंडाल तक रौशनी की बेहतर व्यवस्था की जाएगी।

‘पांडेयपट्टी पूजा पंडाल तक श्रद्धालुओं को आने-जाने में कोई परेशानी नहीं हो इसका ख्याल रखा जाएगा। पूजा पंडाल की भव्यता और श्रद्धालुओं को दिये जाने वाली सुविधा को लेकर ही पांडेयपट्टी का दुर्गा पूजा जिलेभर में मशहूर है। हर साल की तरह इस साल भी यहां का पंडाल आकर्षण का केंद्र होगा

नर्वदा शंकर पांडेय, अध्यक्ष

संबंधित खबरें