DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › बक्सर › ‘भए प्रकट कृपाला, दीन दयाला कौशल्या...
बक्सर

‘भए प्रकट कृपाला, दीन दयाला कौशल्या...

हिन्दुस्तान टीम,बक्सरPublished By: Newswrap
Wed, 01 Sep 2021 11:40 AM
‘भए प्रकट कृपाला, दीन दयाला कौशल्या...

बक्सर। निज संवाददाता

जिले में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्योहार लगातार दूसरे दिन मंगलवार को भी मनाया गया। इस अवसर पर स्वामी रामानुजाचार्य के अनुयायी श्री वैष्णव मतवलंबियों ने व्रत रखा तथा धूमधाम से भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनाए।

आधी रात को 12 का घंटा बजते ही मंदिरों में भए प्रकट कृपाला दीनदयाला कौशल्या हितकारी... तथा नंद के घर आनंद भयो...हाथी घोड़ा पालकी, जय कन्हैया लाल की...आदि स्तुति व जयघोष गूंजने लगे। घंटे-घड़ियाल व शंख ध्वनि के बीच महाआरती होने लगी। इस बीच सोहर व बधाई गीत गाकर भगवान के अवतरण की खुशी मनाई जाने लगी। भाद्रपद कृष्णपक्ष अष्टमी तिथि को रोहिणी नक्षत्र में आधी रात को भगवान श्रीकृष्ण का जन्म हुआ था। लिहाजा रात के बारह बजने के साथ ही मंदिरों के दरवाजे खोले गए तथा भगवान के अभिषेक आदि रस्म पूरी कर विधि-विधान से उनकी पूजा-अर्चना की गई। पर्व को लेकर मंदिरों को आकर्षक ढंग से सजाया गया था। वही भगवान के विग्रह की भी शृंगार की गई थी। जाहिर है कि सोमवार को गृहस्थ व स्वामी रमानंदाचार्य के अनुयायी वैष्णवजनों ने जन्माष्टमी का पर्व मनाया था। यह पर्व स्टेशन रोड स्थित बसांव मठ पर बसांव पीठाधीश्वर श्री अच्युत प्रपन्नाचार्य जी महाराज के सान्निध्य में उत्सव पूर्वक मनाया गया। वहां देर शाम से शुरू हुआ भजन-कीर्तन आधी रात तक चला। इसके बाद महाआरती के पश्चात प्रसाद वितरण किया गया। वही चरित्रवन स्थित श्रीलक्ष्मीनारायण मंदिर व श्रीनिवास मंदिर तथा अहिरौली स्थित श्रीवरदराज मंदिर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी धूमधाम से मनाई गई। मंदिरों में काफी तादाद में श्रद्धालु व व्रती जुटे थे। जो भगवान का प्रसाद ग्रहण कर घर लौटे।

संबंधित खबरें