DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  बक्सर  ›  चौदह चक्के वाले 18 ट्रक धराए, लगा 18 लाख जुर्माना
बक्सर

चौदह चक्के वाले 18 ट्रक धराए, लगा 18 लाख जुर्माना

हिन्दुस्तान टीम,बक्सरPublished By: Newswrap
Mon, 24 May 2021 11:00 AM
चौदह चक्के वाले 18 ट्रक धराए, लगा 18 लाख जुर्माना

डुमरांव। निज संवाददाता

चौदह एवं उससे उपर वाले ट्रकों के परिचालन पर प्रतिबंध लगा दिया है। बावजूद बेधड़क ऐसे ट्रकों का परिचालन जारी है। ऐसे अधिकांश वाहन यूपी के रास्ते बिहार में प्रवेश करते हैं। इसकी गुप्त सूचना डीटीओ बक्सर मनोज कुमार रजक को मिली। उन्होंने रविवार की सुबह डुमरांव के ढकाईच गांव के पास फोरलेन बना रही कंपनी के कार्यालय के समीप एसडीओ डुमरांव के साथ संयुक्त रूप से छापेमारी की। छापेमारी में 18 चौदह चक्के वाले ट्रकों को जब्त कर लिया। जब्त करने के बाद उनके कागजों की जांच करते हुए नियम के विरूद्ध परिचालन करने पर एक-एक लाख का जुर्माना लगाया। इस दौरान दो ट्रक चालक अपना वाहन छोड़ फरार हो गए। उनकी गाड़ी का एक्सल और टायर का हवा निकाल दिया गया।

राज्य में वर्जित है चौदह चक्के वाले वाहन का परिचालन

गौरतलब है कि वर्तमान स्थिति ऐसी है कि बिहार सरकार ने राज्य में चौदह एवं उससे उपर वाले चक्के के ट्रक या अन्य वाहनों के परिचालन पर रोक लगा दिया है। बावजूद ऐसे वाहनों को परिचालन जारी है। अधिकांश वाहन यूपी के रास्ते राज्य में प्रवेश कर जाते हैं। ऐसे ट्रकों में रॉ मेटेरियल की अधिकांश ढुलाई होती है। बड़ी-बड़ी कंपनियों का जहां कार्य चल रहा है, वहां पर इनके द्वारा माल पहुंचाया जाता है।

पीएनसी कंपनी को कर रहे थे माल आपूर्ति

छापेमारी में जब्त ट्रक फोरलेन बना रही कंपनी को माल सप्लाई कर रहे थे। इसकी जानकारी डीटीओ को बक्सर में जब्त एक ट्रक के माध्यम से मिली। लिहाजा उक्त जानकारी के अधार पर गुप्त रूप से छापेमारी अभियान चलाया गया। सभी जब्त ट्रक पीएनसी कंपनी के पास खड़े पाए गए। सभी ट्रकों की बारी-बारी से जांच की गई, जिसमें अठारह ट्रक चौदह चक्का वाले पाए गए।

पीएनसी कंपनी को मिली नसीहत

डीटीओ नेबतया कि सभी ट्रक जब पीएनसी कंपनी कार्यालय के पास अन्य ट्रकों के साथ लगे हुए पाए गए तो माल की सप्लाई इन्हीं को कर रहे होंगे। हालांकि कंपनी ऐसे ट्रकों से माल नहीं लेने की बात कर रही थी। एसडीओ ने बताया की कंपनी के साइट प्रबंधक को नसीहत दी गई है कि अगलीबार प्रतिबंधित ट्रक लगे हुए पाए गए तो कंपनी पर एफआईआर दर्ज कर दी जाएगी। छापेमारी दल में खनन विभाग के अधिकारी भी शामिल थे।

संबंधित खबरें