DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › बिहारशरीफ › वीडियो वायरल मामले की हो रही जांच, जल्द होगा खुलासा
बिहारशरीफ

वीडियो वायरल मामले की हो रही जांच, जल्द होगा खुलासा

हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफPublished By: Newswrap
Fri, 23 Apr 2021 07:31 PM
वीडियो वायरल मामले की हो रही जांच, जल्द होगा खुलासा

वीडियो वायरल मामले की हो रही जांच, जल्द होगा खुलासा

चार दिन पहले का बताया जा रहा वीडियो

दोषियों पर होगी सख्त कार्रवाई

पावापुरी। निज संवाददाता

पावापुरी मेडिकल कॉलेज का हाल ही में वायरल वीडियो ने तूल पकड़ा तो आनन-फानन में एडीएम सहित अन्य अधिकारियों की टीम जांच के लिए गुरुवार को मेडिकल कॉलेज पहुंची। जांच के दौरान प्रभारी प्राचार्य डॉ. अशोक कुमार सिंह व प्रभारी अधीक्षक डॉ. सागर रजक ने बताया कि यह वीडियो चार दिन पहले का है। अस्पताल प्रबंधन की तरफ से इस वार्ड में रोस्टर के अनुसार चार नर्स काम कर रही थीं। नर्सों ने ही रोगी अताउल्ला खां को ऑक्सीजन मास्क लगाया था।

इसके बाद परिजनों ने खुद ही बिना किसी अनुमति के मास्क को इधर-उधर कर वीडियो बनाकर वायरल कर दिया। उस समय गार्ड किसी काम से दरवाजे पर नहीं था। इसका फायदा उठाते हुए परिजनों ने वार्ड में जाकर वीडियो बना लिया। डॉ. सिंह ने कहा कि मामले की तहकीकात चल रही है। दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। रोगी से सही से इलाज नहीं किए जाने को लेकर डॉ. सिंह ने कहा कि रोगी का भगीना शहनवाज खान ने खुद स्वेच्छा से बेहतर इलाज के लिए बाहर ले जाने की बात कही थी। कोलकाता ले जाने के क्रम में रास्ते में रोगी की मौत हुई है।

क्या था मामला:

विम्स में इलाजरत नालंदा जिले के केरुआ गांव के रहने वाले 65 वर्षीय बुजुर्ग अताउल्लाह खान की बुधवार को मौत हो गयी। बुजुर्ग के परिजनों के मुताबिक उनकी कोरोना की जांच नहीं हुई थी। अस्पताल में व्याप्त कुव्यवस्था के कारण न तो जांच की गई, न ही रिपोर्ट आई। और, अंतत: उनकी मौत हो गई। बुजुर्ग के भांजे नियाज ने बताया कि सांस लेने में तकलीफ होने के बाद मंगलवार को पावापुरी विम्स में भर्ती कराया गया था। परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर सही ढंग से इलाज नहीं करने का आरोप लगाते हुए कहा कि कई बार कहने पर भी कोरोना की जांच नहीं की गयी। उन्हें ही ऑक्सीजन सिलेंडर भी लगाने को कहा गया था। इसके बाद मरीज को बुधवार को कोलकाता ले जा रहे थे। इसी दौरान उनकी रास्ते में मौत हो गयी। मरीज के परिजन द्वारा ऑक्सीजन का सिलेंडर लगाने का किसी ने वीडियो बना लिया था। उसके वायरल होने के बाद स्वास्थ्य प्रशासन हरकत में आया था।

संबंधित खबरें