ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार बिहारशरीफबिन्द प्रखंड के 58 बूथ में से 5 पर नहीं पहुंचेंगे वाहन, पगडंडी ही एकमात्र विकल्प

बिन्द प्रखंड के 58 बूथ में से 5 पर नहीं पहुंचेंगे वाहन, पगडंडी ही एकमात्र विकल्प

बिन्द प्रखंड के 58 बूथ में से 5 पर नहीं पहुंचेंगे वाहन, पगडंडी ही एकमात्र विकल्पबिन्द प्रखंड के 58 बूथ में से 5 पर नहीं पहुंचेंगे वाहन, पगडंडी ही एकमात्र विकल्पबिन्द प्रखंड के 58 बूथ में से 5 पर नहीं...

बिन्द प्रखंड के 58 बूथ में से 5 पर नहीं पहुंचेंगे वाहन, पगडंडी ही एकमात्र विकल्प
हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफTue, 14 May 2024 09:30 PM
ऐप पर पढ़ें

सत्ता संग्राम :
बिन्द प्रखंड के 58 बूथ में से 5 पर नहीं पहुंचेंगे वाहन, पगडंडी ही एकमात्र विकल्प

गांव की गलियों से पैदल ही सामान के साथ पहुंचेंगे मतदान कर्मी

कर्मियों को 400 मीटर समान लेकर चलना पड़ेगा पैदल

फोटो :

नूरसराय बूथ : नूरसराय के बेलदारीपर बूथ तक जाने का एकमात्र विकल्प पगडंडी।

बिन्द,नूरसराय, निज संवाददाता।

बिंद प्रखंड के 58 बूथों में से पांच पर तो नूरसराय के 15 बूथों पर मतदान कर्मियों की वाहन नहीं पहुंचेगी। बिंद के सभी पांच बूथों तक जाने का एकमात्र रास्ता खेतों के बीच से जाती पगडंडी है। बिन्द के मतदान केंद्र संख्या 19 का हाल तो बहुत ही बेहाल है। गांव के अंदर बूथ रहने से अधिकारी चाहकर भी कुछ नहीं कर सकते हैं। चुनाव के दिन कहीं प्रकृति ने अपना रंग बदला व जरा सा भी बूंदा बांदी हुई, तो कर्मियों के लिए सामान के साथ 200 मीटर चलकर बूथ तक पहुंचना भी काफी मुश्किल होगा।

बीडीओ प्रितम आंनद ने कहा कि छतरपुर पूर्वी भाग, जैतीपुर, मीराचक उत्तरी भाग व इब्राहिमपुर बूथ तक पहुंच पथ बनाना चुनौती बनी हुई है। इन चार बूथों तक पहुंचने के लिए गांव की संकरी गलियां ही एकमात्र विकल्प है। नौरंगा नया प्राथमिक विद्यालय बूथ तक जाने के लिए 200 मीटर पंगडंडी पर चलना होगा। मतदान केंद्र संख्या 58 इब्राहिमपुर बूथ तक पहुंचने के लिए 300 मीटर, केन्द्र संख्या 53 जैतीपुर जाने के लिए 400 मीटर, मतदान केंद्र संख्या 19 छत्तरपुर जाने के लिए 200 मीटर, मतदान केंद्र संख्या 30 मीराचक प्राथमिक विद्यालय तक जाने के लिए 100 मीटर खेतों के बीच से पतली सी पगडंडी से ही जाना होगा। इन बूथों तक किसी भी परिस्थिति में वाहन नहीं पहुंचेंगे। बीडीओ प्रितम आंनद ने बताया कि इसकी जानकारी वरीय पदाधिकारी को दी गयी है। रास्ता को सुगम बनाने का प्रयास किया जा रहा है। ताकि, मतदान कर्मियों व मतदाताओं को किसी तरह की परेशानी न हो।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें