Saturday, January 29, 2022
हमें फॉलो करें :

गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार बिहारशरीफ27 हजार समूहों से ढाई लाख परिवारों को जोड़ा गया

27 हजार समूहों से ढाई लाख परिवारों को जोड़ा गया

हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफNewswrap
Thu, 09 Dec 2021 03:03 AM
27 हजार समूहों से ढाई लाख परिवारों को जोड़ा गया

27 हजार समूहों से ढाई लाख परिवारों को जोड़ा गया

आत्मनिर्भर बनाने के लिए महिलाओं को दिया जा रहा प्रशिक्षण

मशरूम उत्पादन, सिलाई कटाई से हजारों परिवार की हो रही कमाई

जिला में चल रही जीविकोपार्जन योजनाओं की हुई समीक्षा

फोटो:

जीविका दीदी: बिहारशरीफ के झींगनगर स्थित जिला कार्यालय में बुधवार को जीविकोपार्जन योजनाओं की समीक्षा करते राज्य स्तरीय अधिकारी।

बिहारशरीफ। निज संवाददाता

नालंदा के 27 हजार समूहों से ढाई लाख परिवारों को जोड़ा गया है। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रशिक्षण देकर रोजगार के अवसर मुहैया कराये जा रहे हैं। मशरूम उत्पादन, सिलाई कटाई व अन्य माध्यमों से हजारों परिवार की महिलाएं अच्छी कमाई कर भरण पोषण कर रही हैं।

जिला में चल रही जीविकोपार्जन योजनाओं की समीक्षा राष्ट्रीय आजीविका मिशन के निदेशक डॉ. रमन व राष्ट्रीय मिशन प्रबंधक डॉ. विवेक कुंज ने की। इसमें उन्होंने नालंदा में 13 साल से चल रहीं परियोजनाओं की जानकारी ली। परियोजनाओं की गतिविधियों को देखा व अपने अनुभव उनके साथ साझा किया। उन्होंने इन परियोजनाओं से अन्य महिलाओं को भी जोड़कर स्वरोजगार के लिए प्रेरित करने को कहा। खासकर अशिक्षित महिलाओं के स्वरोजगार के लिए बकरी पालन, गौपालन एक बेहतर जरिया बताया। बैठक में जीविका के राज्य परियोजना प्रबंधक अनिल कुमार, संचार प्रबंधक संतोष कुमार, पशुधन प्रबंधक अमलेश कुमार, सामुदायिक वित्त प्रबंधक शशि प्रसाद, सामाजिक विकास प्रबंधक संतोष कुमार व अन्य शामिल थे। इसके बाद टीम ने राजगीर प्रखंड के पथरौरा गांव जाकर वहां चल रही जीविकोपार्जन परियोजना से संबंधित काम को देखा।

epaper

संबंधित खबरें