Friday, January 28, 2022
हमें फॉलो करें :

मल्टीमीडिया

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार बिहारशरीफनगर निगम की वित्तीय हाल खस्ता

नगर निगम की वित्तीय हाल खस्ता

हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफNewswrap
Sat, 04 Dec 2021 10:01 PM
नगर निगम की वित्तीय हाल खस्ता

नगर निगम की वित्तीय हाल खस्ता

बजट के अनुरूप टैक्स की नहीं हो रही प्राप्ति

8 माह में मात्र 57 फीसद होल्डिंग टैक्स की वसूली

फोटो:

शहर: शहर।

बिहारशरीफ। निज प्रतिनिधि

नगर निगम की वित्तीय हालत इन दिनों खस्ता है। निगम के कर्मियों को वेतन के लिए दूसरे स्रोतों का सहारा लेना पड़ रहा है। होल्डिंग टैक्स वसूली में पिछड़ने के कारण निगम की आय कम हो गयी है। पिछले दो माह से निगम कर्मियों को स्टांप ड्यूटी की राशि से वेतन का भुगतान करना पड़ रहा है। हर साल होल्डिंग टैक्स से 8 करोड़ रुपये वसूली का बजट में प्रावधान तो किया जाता है लेकिन, तय लक्ष्य तक निगम नहीं पहुंच पाता है। यही कारण वेतन व मानदेय के लिए दूसरे स्रोतों पर निर्भर रहना पड़ता है।

चालू वित्तीय साल के 8 माह बीत जाने के बाद भी अभी तक महज 57 फीसद ही राजस्व की वसूली हो पायी है। शेष 4 माह में 43 फीसद लक्ष्य हासिल करना मुश्किल दिख रहा है। चालू वित्तीय साल के लिए एक अरब 16 करोड़ 66 लाख 83 हजार 500 रुपये आय का बजट पेश किया। जबकि, अनुमानित व्यय एक अरब 45 करोड़ 25 लाख 31 हजार रुपये रखा गया है। 2021-22 के बजटीय बैठक में आय के स्रोत बढ़ाने पर ही फोकस रहा है।

हर 5 साल में होल्डिंग टैक्स में बढ़ोतरी का प्रावधान:

वित्तीय वर्ष 2020-21 में संपत्ति कर से आठ करोड़ 80 लाख रुपये राजस्व प्राप्ति का लक्ष्य रखा गया है। नियम यह है कि प्रत्येक पांच साल में होल्डिंग टैक्स में बढ़ोत्तरी होनी है। कई साल से होल्डिंग टैक्स में बढ़ोत्तरी नहीं हुई है। बताया जाता है कि टैक्स बढ़ाये जाने के मामले में पार्षद ही अड़ंगा लगा देते है। 2022 में निगम का चुनाव होना है। स्वयं कर निर्धारण नियम लागू होने के बाद भी दस साल से निगम की आय वही है।

शहरी क्षेत्र में 76 हजार घर:

सर्वे के अनुसार शहर में करीब 76 हजार घर है। घरों की संख्या की अनुपात में देखा जाय तो निगम को कम से कम 20 करोड़ रुपये होल्डिंग टैक्स से कमाई होनी चाहिए। लक्ष्य मात्र 8 करोड़ है। वह भी पूरा नहीं हो पाता है।

कहते हैं अधिकारी:

निगम की आय बढ़े, इसके लिए प्रयास किया जायेगा। होल्डिंग टैक्स वसूली की भी समीक्षा की जाएगी।

तरनजोत सिंह, नगर आयुक्त, बिहारशरीफ

epaper

संबंधित खबरें