ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार बिहारशरीफएक ही टीईटी प्रमाण-पत्र पर दो शिक्षिकों का नौकरी करने का संदेह

एक ही टीईटी प्रमाण-पत्र पर दो शिक्षिकों का नौकरी करने का संदेह

एक ही टीईटी प्रमाण-पत्र पर दो शिक्षिकों का नौकरी करने का संदेह एक ही टीईटी प्रमाण-पत्र पर दो शिक्षिकों का नौकरी करने का संदेह एक ही टीईटी प्रमाण-पत्र पर दो शिक्षिकों का नौकरी करने का संदेह एक...

एक ही टीईटी प्रमाण-पत्र पर दो शिक्षिकों का नौकरी करने का संदेह
हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफSat, 24 Feb 2024 10:30 PM
ऐप पर पढ़ें

हिन्दुस्तान एक्सक्लूसिव :
गड़बड़झाला : एक ही टीईटी प्रमाण-पत्र पर दो शिक्षिकों की नौकरी करने का संदेह

सक्षमता परीक्षा का दोनों शिक्षिकाओं ने भरे फॉर्म, एक का हुआ रिजेक्ट

बेन प्रखंड की शिक्षिका ने आवेदन सत्यापित नहीं होने पर डीएम से लगायी गुहार

बेन की शिक्षिका के अनुक्रमांक पर शेखपुरा की एक शिक्षिका का सक्षमता फार्म भरने का मामला

फोटो :

डीईओ ऑफिस : जिला शिक्षा कार्यालय का भवन।

बिहारशरीफ, हिन्दुस्तान संवाददाता।

शिक्षा विभाग में शिक्षकों की नौकरी पाने का दांव-पेच का आकलन करना टेड़ी खीर है। निगरानी जांच में अब तक जिले में 105 शिक्षकों पर केस दर्ज किया जा चुका है। कई शिक्षकों की नौकरी भी खत्म कर दी गयी है। लेकिन, अभी भी कई शिक्षकों के दस्तावेजों की जांच निगरानी द्वारा चल रही है। इसमें भी कई फर्जी दस्तावेज पर नौकरी करने वालों का खुलासा हो सकता है।

लेकिन, सक्षमता परीक्षा से पहले एक और शिक्षिका के फर्जी दस्तावेज पर नौकरी करने का संदेह के घेरा में है। एक ही टीईटी प्रमाण-पत्र पर दो शिक्षिका को नौकरी करने का मामला सामने आया है। हालांकि, अभी जांच होना बाकी है। किसका प्रमाण-पत्र गलत है, जांच के बाद ही इसका खुलासा हो सकेगा। बुद्धिजीवियों का कहना है कि हो सकता है कि साइबर कैफे संचालक द्वारा टीईटी का अनुक्रमांक का नंबर गलती से भी इंट्री होने पर भी इस तरह की स्थिति बन सकती है। खैर, मामला चाहे भी हो, जांच के बाद ही सच्चाई सामने आएगी।

कैसे हुआ खुलासा :

बेन प्रखंड के छकौड़ीबिगहा स्कूल की प्रखंड शिक्षिका नीतु कुमारी ने डीएम शशांक शुभंकर को आवेदन दिया है। कहा है कि वे 29 नवंबर 2023 से छकौड़ीबिगहा स्कूल में प्रखंड शिक्षिका के पद पर कार्यरत हैं। 14 फरवरी को सक्षमता का आवेदन कर चुके हैं। लेकिन, फार्म को रिजेक्ट कर दिया गया है। इस संबंध में बीईओ से संपर्क करने पर डीईओ कार्यालय से संपर्क करने की सलाह दी गयी। जब, शिक्षा विभाग के स्थापना शाखा में संपर्क किये तो बताया गया कि आपके टीईटी प्रमाण-पत्र के अनुक्रमांक पर एक और शिक्षिका ने शेखपुरा जिला से सक्षमता का फार्म भरा है। जबकि, मेरे सभी कागजात का स्थापना द्वारा 2021 में सत्यापित कर 30 माह का वेतन भुगतान भी किया गया है। शिक्षिका ने डीएम से आवेदन सत्यापन कराने में सहयोग करने की गुहार लगायी है। डीएम ने डीईओ जियाउल होदा खां को मामले की जांच कर रिपोर्ट देने का आदेश दिया है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें