ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार बिहारशरीफपिंक टॉयलेट : हिलसा बाजार में शौचालय नहीं होने से महिलाएं हो रहीं परेशान

पिंक टॉयलेट : हिलसा बाजार में शौचालय नहीं होने से महिलाएं हो रहीं परेशान

पिंक टॉयलेट : हिलसा बाजार में शौचालय नहीं होने से महिलाएं हो रहीं परेशानपिंक टॉयलेट : हिलसा बाजार में शौचालय नहीं होने से महिलाएं हो रहीं परेशानपिंक टॉयलेट : हिलसा बाजार में शौचालय नहीं होने से...

पिंक टॉयलेट : हिलसा बाजार में शौचालय नहीं होने से महिलाएं हो रहीं परेशान
हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफSat, 24 Feb 2024 10:30 PM
ऐप पर पढ़ें

हिलसा बाजार में शौचालय नहीं होने से महिलाएं हो रही परेशान
नगर परिषद क्षेत्र में 20 स्थानों पर महिला-पुरुषों के लिए बने हैं शौचालय

कहीं अवैध कब्जा तो कई रख-रखाव के अभाव में नहीं मिल रहा लाभ

फोटो:

हिलसा शौचालय : हिलसा के योगीपुर रोड में पीएचईडी कार्यालय के पास बना शौचालय।

हिलसा, निज प्रतिनिधि।

हिलसा अनुमंडल मुख्यालय होने के साथ नगर परिषद भी है। यहां की लगभग 53 हजार की आबादी और आसपास के दर्जनों गांवों के लोग हिलसा बाजार पर निर्भर हैं। यहां कोर्ट, जेल, अनुमंडलीय अस्पताल से लेकर तमाम बड़े अधिकारी व न्यायकर्मी के कार्यालय व आवास हैं। प्रतिदिन 50-60 हजार लोग बाजार करने के लिए आते हैं। बाजार में शौचालय नहीं होने के कारण महिलाओं को काफी परेशानी उठानी पड़ती है।

शहर के मुख्य बाजार छोड़कर नगर परिषद क्षेत्र के अलग-अलग जगहों पर महिला-पुरुषों के लिए 20 शौचालय बनाये जाने का आंकड़ा नगर परिषद के पास है। इसमें कई शौचालय पर अवैध कब्जा है तो कई की जर्जर स्थिति है। मुख्य रूप से नगर परिषद कार्यालय के पास, कोर्ट कैम्पस एव सूर्य मंदिर तालाब के पास बने सामुदायिक शौचालय का उपयोग ठीक-ठाक से हो रहा है। यहां महिलाएं व पुरुषों के लिए अलग-अलग सुविधाओं के साथ सफाई भी रहती है। ग्रामीण क्षेत्र में बने शौचालय की स्थिति रख-रखाव सहीं नही रहने के कारण खराब है। इनका उपयोग करना तो दूर पास से गुजरना भी मुश्किल हो गया है।

महिलाओं को होना पड़ता है शर्मसार:

पटेल नगर बस स्टैंड में वर्षों पूर्व बने शौचालय पर किसी ने अवैध कब्जा कर लिया है। मुख्य बाजार के साथ बस स्टैंड भी शौचालय विहीन है। शौचालय या यूरिनल की व्यवस्था नहीं रहने से महिलाओं को शर्मसार होना पड़ता है। शौच लगने पर पहले तो शौचालय की तलाश करती है। नहीं मिलने पर मजबूरन उन्हें लोक-लज्जा छोड़कर शर्मिंदगी के साथ किसी वाहन के पीछे छुपकर या फिर संकीर्ण गलियों, सड़क किनारे नाले पर शौच करना पड़ता है। मुख्य बाजार वरुणतल, कालीस्थान, स्टेशन रोड, बिहारी रोड या फिर सिनेमा मोड़ के पास एक भी शौचालय या यूरिनल की व्यवस्था नहीं की गई है। सिर्फ थाना के पास एक यूरिनल है वह भी हमेशा नरक बना रहता है। बाजार में राहगीरों के लिए पानी की भी समस्या बनी हुई है। लोगों ने बताया कि इस बार शहर में कई जगहों पर प्याऊ बना है जिससे एक हद तक लोगों को सुविधा मिल रही है। इसके बाद भी मुख्य बाजार में पानी की दिक्कत है। योगीपुर मोड़ और खाकी चौक के अलावा कहीं भी पानी का साधन नहीं है। गर्मी के दिनों में लोगों को भटकना पड़ता है।

इन जगहों पर बना है शौचालय:

सामुदायिक शौचालय-गजेंद्र बिगहा, सैदनपुर, तिरुखिया, मदारचक, मई, लालसे बिगहा, कौशिक नगर, पटेल नगर रेड क्रॉस के पास, खाकी चौक और दबौल के पास।

पब्लिक शौचालय-कोर्ट कैम्पस, स्टेशन रोड, सूर्य मंदिर, खाकी चौक, दरगाह मोहल्ला, योगीपुर रोड एवं मदारचक।

इन जगहों पर बना है प्याऊ:

अनुमंडल कार्यालय कैम्पस, योगीपुर मोड़, रेलवे क्रॉसिंग, रामबाबु हाई स्कूल, खाकी चौक रैन बसेरा के पास प्याऊ स्टैंड पोस्ट बना है। यहां लोगों को पेयजल की सुविधा मिल रही है। लोगों ने कहा कि मुख्य बाजार में भी प्याऊ की सुविधा होनी चाहिए।

लोगो की राय, विभाग का पेच:

हिलसा के रहने बाले राजेन्द्र प्रसाद, श्रवण कुमार, नीतीश कुमार, सुनीता कुमारी, दिलीप कुमार आदि ने कहा कि हिलसा बाजार में प्रतिदिन 50-60 हजार से अधिक लोग आते हैं। हजारों की संख्या में लोग कोर्ट के काम से आते हैं। मुख्य बाजार में शौचालय की व्यवस्था नहीं है। बाजार के व्यस्ततम चौक-चौराहों पर पेयजल के साथ शौचालय व यूरिनल की व्यवस्था होनी चाहिए। पेंच यह है कि बाजार में जगह का अभाव है या लोग बनने नहीं देते हैं। शौचालय व यूरिनल लगाने के लिए जगह की तलाश की जा रही है। जल्द ही इस पर काम शुरू होने का दावा भी कर रहे हैं। अब देखना होगा कि मुख्य बाजार में आमजनों व राहगीरों के लिए यह सुविधा प्रदान नगर परिषद कर पाती है या नहीं।

कहते हैं अधिकारी:

नगर परिषद क्षेत्र के विभिन्न वार्ड व सार्वजनिक जगहों पर महिला-पुरुष के लिए शौचालय बनाए गए हैं। जगह के अभाव में अभी मुख्य बाजार में शौचालय या यूरिनल नहीं बन पाया है। पानी के लिए कई जगहों पर प्याऊ बनाया गया है। योगीपुर रोड स्थित पीएचडी के पास हाल ही में शौचालय और यूरिनल बनाया गया है। निरंतर सफाई कराई जाती है। शहरवासियों को भी अपनी जवाबदेही समझनी चाहिए। आखिरकार ये सारी व्यवस्थाए उनके लिए ही होती है। ऐसे में उसे स्वच्छ व सुरक्षित रखना लोगों की जिम्मेवारी है। मुख्य बाजार में शौचालय व यूरिनल की कमी है इसका मुख्य कारण है कि सही जगह नही मिल पा रही है और लोग इसमें सहयोग नही कर पा रहे हैं। जगह तलाश की जा रही है। जल्द ही काम शुरू कर दिया जाएगा।

मनीष कुमार, सिटी मैनेजर,नगर परिषद हिलसा

बोले मुख्य पार्षद:

नगर परिषद की सरकार बने एक लगभग एक साल हुआ है। एक साल के अंदर जनहित में बहुत सारे काम हुए हैं। नाली-गली निर्माण व पेयजल आपूर्ति पर काम किया गया है। पहले शहर में एक-दो जगहों पर शौचालय की व्यवस्था थी। पेयजल का कोई साधन नहीं था। आज शहर से लेकर वार्ड में भी पेयजल की समस्या दूर की गयी है। बाजार में कई जगहों पर प्याऊ, शौचालय का निर्माण कराया गया है। मुख्य बाजार में शौचालय निर्माण में आ रही बाधाएं दूर कर जल्द ही निर्माण का कार्य शुरू किया जाएगा। स्वच्छ, सुंदर और सुविधायुक्त नगर बनाने का उन्होंने संकल्प लिया है। इस संकल्प को पूरा करने के लिए काम किया जा रहा है।

धनंजय कुमार, मुख्य पार्षद, हिलसा

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें