Not Grand alliance ethnic coalition in Bihar - महागठबंधन नहीं, बिहार में है जातीय गठबंधन DA Image
12 नबम्बर, 2019|4:25|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महागठबंधन नहीं, बिहार में है जातीय गठबंधन

महागठबंधन नहीं, बिहार में है जातीय गठबंधन

महागठबंधन नहीं है, बिहार में जातीय गठबंधन है। अभी तक नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी ( एनसीपी ) महागठबंधन का हिस्सा है, पर यदि सम्मानजनक समझौता नहीं हुआ तो पार्टी प्रदेश की सभी 40 लोकसभा सीट का चुनाव लड़ेगी। ये बातें सोमवार को शेखपुरा के सर्किट हाउस में एनसीपी के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व मंत्री नवल किशोर शाही ने प्रेस वार्ता में कहीं। 

तीखा प्रहार करते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि महागठबंधन में एक अनार सौ बीमार वाली स्थिति है। एक साथ कई लोग सीएम पद के ही दावेदार है। उन्होंने कहा कि विचारधारा के साथ गठबंधन होता है, पर महागठबंधन में विचारधारा का मेल नहीं है। इसलिए यह महागठबंधन टिकाउ नहीं हो सकता। प्रदेश अध्यक्ष ने लोकसभा चुनाव से पहले कार्यकर्ताओं में उत्साह भरने शेखपुरा पहुंचे थे। 

उन्होंने जातीय आधार पर दिये जाने वाले आरक्षण को समाप्त करने की वकालत करते हुए कहा कि बिहार में लोकसभा की सात सीटें आरक्षित हैं, जिस पर लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान के परिजनों का कब्जा है। आरक्षण के आधार को आर्थिक करने की मांग करते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सवर्ण जाति के गरीबों को 10 फीसदी आरक्षण देकर भाजपा सरकार ने अच्छा काम किया है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Not Grand alliance ethnic coalition in Bihar