DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  बिहारशरीफ  ›  लापरवाही : 21 जिंदगियां भगवान भरोसे, चिकित्सक तैनात पर नहीं करते ड्यूटी, शोकॉज

बिहारशरीफलापरवाही : 21 जिंदगियां भगवान भरोसे, चिकित्सक तैनात पर नहीं करते ड्यूटी, शोकॉज

हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफPublished By: Newswrap
Mon, 24 May 2021 07:50 PM
लापरवाही : 21 जिंदगियां भगवान भरोसे, चिकित्सक तैनात पर नहीं करते ड्यूटी, शोकॉज

लापरवाही : 21 जिंदगियां भगवान भरोसे, चिकित्सक तैनात पर नहीं करते ड्यूटी, शोकॉज

देखभाल के लिए बनी थीं दो टीमें, आयुष चिकित्सक को मिली थी जिम्मेदारी

रहुई में 6 कंटेनमेंट जोन, 21 होम आइसोलेशन में

फोटो:

रहुई हॉस्पिटल: रहुई सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र।

रहुई। निज संवाददाता

लापरवाही ऐसी की 21 जिंदगियां भगवान भरोसे ही होम आइसोलेशन में हैं। चिकित्सक तैनात पर वे ड्यूटी नहीं करते हैं। होम आइसोलेशन में रह रहे लोंगो की काउंसिलिंग के लिए वे नहीं जाते। जबकि, इनकी देखभाल करने के लिए दो टीमें बनायी गयी थीं। इनकी जवाबदेही आयुष चिकित्सकों को दी गयी थी। प्रखंड में फिलहाल छह कंटेनमेंट जोन हैं। वहीं 21 संक्रमित होम आइसोलेशन में हैं।

होम आइसोलेशन में रहने वालों की देखरेख व उनकी काउंसिलिंग कर उचित उपचार व सलाह के लिए अस्पताल प्रशासन ने दो टीम गठित की है। प्रत्येक टीम में एक आयुष चिकित्सक समेत दो अन्य कर्मी शामिल हैं। लेकिन, कोरोना संकट में चिकित्सक अपने कर्तव्य निभाने से हाथ खड़े किए हुए हैं। नतीजा यह कि 21 संक्रमितों की जिदंगी और मौत भगवान भरोसे है। आजिज होकर अस्पताल प्रभारी ने चारों चिकित्सकों से शोकॉज किया है। लेकिन, इन डॉक्टरों पर इसका भी कोई असर नहीं हुआ।

सप्ताह में एक दिन करते है ड्यूटी:

रहुई सामुदायिक अस्पताल में महज दो एमबीबीएस चिकित्सक हैं। चिकित्सक की कमी के कारण से आयुष डॉक्टरों को सप्ताह में एक दिन अस्पताल के ओपीडी में ड्यूटी लगाई गई है। इस हिसाब से महीने में एक सप्ताह भी ड्यूटी नहीं करते हैं।

प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. चन्द्रशेखर प्रसाद ने बताया कि चारों आयुष चिकित्सक डॉ. धर्मेन्द्र कुमार, डॉ. धर्मेन्द्र कुमार टू, डॉ. सुरेद्र कुमार व डॉ. उत्तम कुमार से होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना संक्रमित की काउंसिलिंग नहीं करने पर शोकॉज पूछा गया है। लेकिन, न तो जवाब दिया ओर न ही ड्यूटी कर रहे हैं। हालांकि, सप्ताह में एक दिन ओपीडी में सेवा दे रहे हैं। अगर जल्द जवाब नहीं मिला तो उनपर विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

संबंधित खबरें