ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार बिहारशरीफनालंदा समेत 14 जिलों में 15 को चलेगा राष्ट्रीय कृमि मुक्ति अभियान

नालंदा समेत 14 जिलों में 15 को चलेगा राष्ट्रीय कृमि मुक्ति अभियान

नालंदा समेत 14 जिलों में 15 को चलेगा राष्ट्रीय कृमि मुक्ति अभियाननालंदा समेत 14 जिलों में 15 को चलेगा राष्ट्रीय कृमि मुक्ति अभियाननालंदा समेत 14 जिलों में 15 को चलेगा राष्ट्रीय कृमि मुक्ति...

नालंदा समेत 14 जिलों में 15 को चलेगा राष्ट्रीय कृमि मुक्ति अभियान
हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफTue, 20 Feb 2024 11:15 PM
ऐप पर पढ़ें

नालंदा समेत 14 जिलों में 15 को चलेगा राष्ट्रीय कृमि मुक्ति अभियान
जिला के 1 से 19 साल तक के 16.86 लाख बच्चों को खिलायी जाएंगी दवाएं

छूटे हुए बच्चों के लिए 19 को चलेगा मॉपअप अभियान

बिहारशरीफ, निज संवाददाता।

बच्चों को हानिकारक कृमि से बचाने के लिए नालंदा समेत सूबे के 14 जिलों में 15 मार्च को राष्ट्रीय कृमि मुक्ति अभियान चलेगा। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. राजेंद्र चौधरी ने बताया कि अभियान में जिला के एक से 19 साल तक के 16 लाख 86 हजार 141 बच्चों व किशोरों को एल्बेंडाजोल दवाएं खिलायी जाएंगी। जो बच्चे इस दौरान दवा नहीं ले पाएंगे, उनके लिए 19 मार्च को मॉपअप अभियान चलेगा। इसके लिए सरकारी व निजी विद्यालयों, तकनीकी संस्थानों एवं आंगनबाड़ी केंद्रों पर दवा खिलाने की व्यवस्था की जाएगी। सूबे के दो करोड़ 47 लाख 93 हजार बच्चों एवं किशोरों को दवा खिलाने का लक्ष्य है।

शिशु स्वास्थ्य के राज्य कार्यक्रम पदाधिकारी डॉ. विजय प्रकाश राय ने बताया कि नालंदा के अलावा अररिया, भोजपुर, बक्सर, दरभंगा, किशनगंज, लखीसराय, मधेपुरा, मधुबनी, नवादा, पटना, पूर्णिया, रोहतास व समस्तीपुर जिलों में राष्ट्रीय कृमि मुक्ति अभियान चलेगा।

बच्चों की सीखने की क्षमता प्रभावित :

सीएस डॉ.अविनाश कुमार सिंह ने बताया कि कृमि संक्रमण बच्चों के स्वास्थ्य के साथ ही बौद्धिक विकास को प्रभावित करता है। इससे उनकी सीखने की क्षमता प्रभावित होती है। वे कुपोषण का शिकार हो सकते हैं। उन्होंने लोगों से 19 साल तक के सभी बच्चों को कृमिनाशक दवाएं खिलाने की अपील की है। कहा कि जिन बच्चों एवं किशोरों के पेट में कृमि की संख्या अधिक होती है, उनमें दवा सेवन के बाद जी मतलाना, कमजोरी, सिर अथवा पेट में दर्द की शिकायत हो सकती है। इससे घबराना नहीं चाहिए। सामान्य तौर पर यह कुछ समय बाद ही यह स्वत: ठीक हो जाता है। अभियान के दौरान स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड में रहेगा। अभियान की सघन निगरानी की जाएगी। जिला एवं प्रखंड स्तर पर रैपिड रिस्पांस टीम गठित की जाएगी। इसकी तैयार की जा रही है।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें