DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नालंदा में थाने में जदयू नेता की मौत पर जमकर हुआ बवाल

नालंदा में जदयू नेता की मौत के बाद शुक्रवार को सैकड़ों ग्रामीणों ने नगरनौसा थाने का घेराव किया। गुस्साये लोगों ने आग जलाकर फतुहा-बाढ़ एनएच 431 को जाम कर दिया। जाम हटाने का प्रयास कर रही पुलिस पर लोगों ने रोड़ेबाजी कर दी। रोड़ेबाजी में गिरियक इंस्पेक्टर शेर सिंह यादव, रहुई थानाध्यक्ष श्रीमंत कुमार सुमन व नूरसराय के थानाध्यक्ष अभय कुमार समेत कई पुलिसकर्मी जख्मी हो गये।

इसके बाद हंगामा कर रहे लोगों पर पुलिस ने जमकर लाठियां बरसायीं। दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। इसमें कई ग्रामीण भी चोटिल हुए। नगरनौसा बाजार घंटों रणक्षेत्र में तब्दील रहा। मौके पर पहुंचे आईजी सुनील कुमार, डीआईजी राजेश कुमार व एसपी नीलेश कुमार ने थानाध्यक्ष कमलेश कुमार, जमादार बलिन्द्र राय, चौकीदार संजय पासवान को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया। बाद में उन्हें जेल भेज दिया गया। आईजी ने तीनों को सस्पेंड भी कर दिया।

लड़की अपहरण मामले में पूछताछ के लिए पुलिस ने बुधवार को सैदपुर गांव निवासी देवनंदन रविदास के पुत्र 48 वर्षीय गणेश रविदास को हिरासत में लिया था। वे जदयू महादलित प्रकोष्ठ के प्रखंड अध्यक्ष थे। गुरुवार को थाने में ही उनकी मौत हो गयी। पुलिस का कहना है कि थाने के शौचालय में उन्होंने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। लेकिन, मृतक के पुत्र बलिराम ने थानाध्यक्ष, जमादार, चौकीदार समेत 9 लोगों के खिलाफ एससी-एसटी थाने में हत्या की एफआईआर करायी है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: nalanda ruckus after death of JDU leader in police station