ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार बिहारशरीफनगर निगम : कल्याणपुर समेत 4 मोहल्लों में पानी के लिए रोज हो रही मारा-मारी

नगर निगम : कल्याणपुर समेत 4 मोहल्लों में पानी के लिए रोज हो रही मारा-मारी

नगर निगम : कल्याणपुर समेत 4 मोहल्लों में पानी के लिए रोज हो रही मारा-मारीनगर निगम : कल्याणपुर समेत 4 मोहल्लों में पानी के लिए रोज हो रही मारा-मारीनगर निगम : कल्याणपुर समेत 4 मोहल्लों में पानी के लिए...

नगर निगम : कल्याणपुर समेत 4 मोहल्लों में पानी के लिए रोज हो रही मारा-मारी
default image
हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफWed, 12 Jun 2024 10:00 PM
ऐप पर पढ़ें

नगर निगम : कल्याणपुर समेत 4 मोहल्लों में पानी के लिए रोज हो रही मारा-मारी
भीषण गर्मी में पानी के लिए सुबह-शाम लगानी पड़ रही लाइन

ईमादपुर में 2 माह से 200 घरों में नहीं पहुंच रहा नल का जल

सब्र का टूटा बांध, अस्पताल चौक पर दे रहे 3 दिन से धरना

फोटो :

पानी 01 : बिहारशरीफ के ईमादपुर मोहल्ले में बुधवार को जमीन पर लगे नल से पानी लेने के लिए अपनी बारी का इंतजार करतीं महिलाएं।

पानी 02 : बिहारशरीफ के नईसराय-कल्याणपुर मोहल्ले में बुधवार को टैंकर से पानी लेने के लिए लगी लोगों की भीड़।

बिहारशरीफ, निज संवाददाता।

हमारा शहर सात साल से स्मार्ट सिटी में शुमार है। इसके विकास के साथ ही पेयजल की व्यवस्था पर पानी की तरह पैसे बहाये जा रहे हैं। अधिकारी भी बड़े-बड़े दावे कर रहे हैं। लेकिन, जमीनी हकीकत इसके ठीक उलट है। इस भीषण गर्मी में बिहारशरीफ के नईसराय-कल्याणपुर, लहेरी, सिपाह, गगनदीवान समेत चार मोहल्लों में पानी के लिए रोजाना मारा-मारी तक की नौबत आ रही है। इस भीषण गर्मी में लोगों को सुबह-शाम पानी के लिए टैंकलोरी आते ही लंबी लाइन लगानी पड़ रही है। इस दौरान कभी कभार तू-तू-मैं-मैं तक हो जाती है।

पानी के लिए 3 दिन से धरना :

हद तो यह कि शहर के वार्ड नंबर-12 ईमादपुर मोहल्ला में दो माह से 200 घरों में पानी नहीं पहुंच रहा है। वहां के लोग मोहल्ले के बाहर गली में लगे टूटे पाइप व नीचे वाले नल के पास बर्तन लगाकर जैसे-तैसे पानी ले रहे हैं। यहां के लोगों का सब्र का बांध टूट चुका है। वे पानी की व्यवस्था को लेकर सोमवार से ही अस्पताल चौक पर धरना पर बैठे हैं। बावजूद, उनकी कोई नहीं सुन रहा है।

हर साल होती है यही परेशानी :

नगर निगम हर बार यह कहता है कि अब लोगों को पानी की समस्या नहीं होगी। यह कहते कहते सात साल से अधिक समय गुजर चुका है। अमृत योजना पर भी काफी पैसे खर्च किए गए। शहरों के सभी घरों में नल का जल पहुंचाने के लिए टोटी लगायी गयी। लेकिन, मगध कोलोनी, बड़ी पहाड़ी, इमादपुर जैसे कुछ मोहल्लों में इस नलका से आज तक पानी ही नहीं गिरा है।

दिनचर्या के काम भी निपटाने में आ रही परेशानी :

कल्याणपुर के सुरेश प्रसाद, गोलू, अभिषेक कुमार, झूलन कुमार, सहदेव प्रसाद, राजू कुमार, दीपक कुमार व अन्य ने बताया कि इस भीषण गर्मी में स्नान करना तो दूर शौच आदि करने के लिए भी सोचना पड़ता है। खाना बनाने के लिए ही किसी तरह से काम चलाना पड़ता है। सुबह शाम पानी के इंतजार में पहले से ही बैठे रहते हैं। टैंकलोरी आने पर बाल्टी से पानी ढोकर घर ले जाना पड़ता है। बच्चों को रोजाना स्नान तक नहीं करा पा रहे हैं। कई बार तो पानी के कारण सुबह में समय पर खाना तक नहीं बन पाता है। इससे बेहतर तो गांव हैं, जहां कम से कम चापाकल या पास के घरों से पानी तो मिल जाता है। इससे काम पर जाना भी मुश्किल हो जाता है।

गलियों में महिलाएं स्नान करने को विवश :

इमादपुर के लोग दो माह से पानी के कारण नरकीय जीवन जीने को बाध्य हैं। हद तो यह कि यहां की कई महिलाओं को गलियों में ही लोटा से स्नान करने की विवशता है। वह भी जैसे तैसे ही हो पाता है। इसी नलके से तसले, बाल्टी व डिब्बा में भरकर दिनभर पीने के लिए पानी रखना पड़ता है। जतनराम आर्य, आकाश कुमार, विनोद दास, अशोक दास, विशुनदेव, मुकेश, जयराज व अन्य ने बताया कि वे इसके लिए अधिकारियों से कई बार गुहार लगा चुके हैं। लेकिन, आज तक कोई हल नहीं निकला।

हजार फीट पाइप जोड़ने से घरों तक पहुंचने लगेगा पानी :

62 वर्षीय राम विलास रविदास बताते हैं कि 2023 में घर में नल लगा। तब पानी पहुंचने की आस जगी थी। लेकिन, जिस दिन से नल लगा है आज तक उससे एक बूंद पानी मयस्सर नहीं हुई। पहले शेखाना जलमिनार से टोला में पानी पहुंचता था। तब सब कुछ ठीक था। तीन साल पहले वह जलमिनार क्रेक कर गया। तब से जलसंकट हर साल बढ़ता जा रहा है। मोहल्ले में ही बोरिंग करायी गयी। इसमें मात्र एक हजार फीट पाइप जोड़ने से इस टोला के सभी घरों तक पानी पहुंचने लगेगा। इस बोरिंग से महद्दीनगर, नई सराय, कल्याणपुर, मिरदाद, छज्जु मोहल्ला में पानी जा रहा है। जो यहां से काफी दूर है। पास वाले मोहल्ले ही पानी के लिए तरस रहे हैं। कर्पूरी जनता दल के प्रदेश महासचिव दिलीप कुमार पटेल ने इनके धरना का समर्थन करते हुए अविलंब पानी की व्यवस्था कराने की मांग की है।

कहते हैं अधिकारी :

शहर में आपात स्थिति में मोहल्लों तक पानी पहुंचाने के लिए 22 टैंकर की व्यवस्था है। सूचना मिलने पर कई मोहल्लों में तुरंत पानी भेजा जा रहा है। पानी की आपूर्ति के लिए शहर में 71 बोरिंग काम कर रही है। पानी की अन्य समस्या का जल्द ही निपटारा किया जाएगा।

विनय रंजन, नगर प्रबंधक, नगर निगम, बिहारशरीफ

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।