DA Image
Wednesday, December 1, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार बिहारशरीफअपने विषय पर बनाएं पूरी पकड़, कभी भी न अपनाएं शॉटकर्ट

अपने विषय पर बनाएं पूरी पकड़, कभी भी न अपनाएं शॉटकर्ट

हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 09:40 PM
अपने विषय पर बनाएं पूरी पकड़, कभी भी न अपनाएं शॉटकर्ट

अपने विषय पर बनाएं पूरी पकड़, कभी भी न अपनाएं शॉटकर्ट

सही रणनीति बनाकर ईमानदारी से करें मेहनत, अवश्य मिलेगी सफलता

यूपीएससी परीक्षा को कठिन समझने की न करें भूल, निडर हो करें तैयारी

आईएमए सभागार में सफल शिक्षाविदों ने बच्चों को परीक्षा में सफल होने के बताए टिप्स

फोटो:

आईएमए : बिहारशरीफ के आईएमए हॉल में छात्र छात्राओं को यूपीएससी की परीक्षा में सफल होने के लिए टिप्स बताते शिक्षाविद।

बिहारशरीफ। निज संवाददाता

समसामयिक घटनाओं पर हमेशा पूरी नजर रखें। अपने विषयों पर अपनी पूरी पकड़ बनाएं। तैयारी में कभी भी शॉटकर्ट रास्ता न अपनाएं। शुरू से ही सही रणनीति बनाकर ईमानदारी से मेहनत करें। यूपीएससी परीक्षा को कभी भी कठिन समझने की भूल न करें। एकदम निडर होकर इस परीक्षा की तैयारी करें। आपको सफलता अवश्य मिलेगी।

बिहारशरीफ के आईएमए हॉल में आयकर विभाग के संयुक्त आयुक्त रंजीत कुमार मधुकर (आईआरएस) ने छात्र-छात्राओं को यूपीएससी (यूनियन पब्लिक सर्विस कमिशन) की परीक्षा में सफल होने के आसान टिप्स बताए। उन्होंने कहा कि एक बार मन में कठिन शब्द आया तो उसे खत्म करना बहुत ही मुश्किल है। सही रणनीति व प्रबंधन से हर मुश्किल काम को अंजाम तक पहुंचाया सकता है।

बिलास कुमार ने कहा कि यह परीक्षा तीन चरणों में आयोजित होती है। हर स्टेज की बाधा को खत्म कर ही छात्र इसमें सफल हो सकते हैं। प्रीलिम्स, मेन परीक्षा व साक्षात्कार परीक्षा में अपनी दक्षता को सिद्ध करना होता है। इसमें डीईओ केशव प्रसाद, पप्पू कुमार व अन्य ने सफलता के टिप्स बताए।

प्रमोद कुमार ने कहा कि तैयारी के दौरान काफी बातों पर ध्यान रखना चाहिए। खासकर अपने अंदर लिखने की क्षमता विकसित करें। बेसिक पुस्तकों का अध्ययन करें। किसी विषय को लेकर अपने कंसेप्ट यानि सोच एकदम साफ रखें। इसमें किसी तरह का किंतु परंतु नहीं होना चाहिए। इसके लिए कम से कम एक अखबार रोज पढ़ें। साथ ही अनुभवी या सफल छात्रों से मार्गदर्शन लेते रहें।

सिलेबस के अनुसार करें तैयारी

सिविल सेवा परीक्षा: चुनौती एवं संभावनाएं विषय पर आयोजित सेमिनार में पटना विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो. डॉ. रास बिहारी प्रसाद सिंह ने कहा कि इस परीक्षा के लिए सिलेबस का अपना महत्व है। इसकी तैयारी में मैट्रिक तक की एनसीईआरटी की किताबों बहुत ही सहायक हैं। वैसे तो इसमें साधारण तौर पर सभी विषयों पर पकड़ होनी चाहिए। लेकिन, मुख्य परीक्षा की तैयारी में चयनित विषयों के सिलेबस के अनुसार ही तैयारी करें। उन्होंने कहा कि जब आप हिमालय से निकलने वाली नदियों एवं प्रायद्वीपीय पठार की नदियों में अंतर पढ़ रहे होते हैं। तो ये भी पढ़ें कि इन नदियों का संबंधित क्षेत्र में सामाजिक, संस्कृतिक और आर्थिक परिदृश्य में प्रभाव क्या पड़ा।

वाद विवाद में भी लें भाग

बीपीएससी के पूर्व सदस्य प्रो. डीएल शर्मा ने छात्रों को कहा कि किसी भी विषय वस्तु पर पकड़ बनाने के लिए वाद विवाद सबसे उत्तम साधन है। एक साथ चार, पांच या अधिक छात्र किसी एक विषय पर अपनी अपनी बातें कहें। उसपर विस्तार से चर्चा करें। इससे एक दूसरे के अनुभवों व जानकारी को समझने का मौका मिलेगा। नित्य अलग अलग विषयों पर सामूहिक चर्चा करें। इससे उस विषय पर आपकी पकड़ बढ़ेगी।

सफलता के सात मंत्र:

सबसे पहले इस परीक्षा से संबंधित सारी जानकारी एकत्र करें।

परीक्षा के सिलेबस को समझें, उसके बाद विषय संबंधित निर्णय लें।

रणनीति और अध्ययन की पाठ्य सामग्री इकट्ठा करें।

एकाग्रता के साथ लगन से पढ़ाई करें, पढ़ने के बाद उन विषय वस्तु पर अवश्य लिखें।

सुविधा के अनुसार सप्ताह में एक बार मॉडल प्रश्नों का हल कर समय व हल प्रश्नों के अनुपात को दखते रहें।

डेली नियमित तौर से अखबार व पत्रिताएं पढ़ते रहें। इसमें समसामयिक घटनाओं पर अवश्य ध्यान दें।

देश व विदेश में चल रही हलचल व अन्य गतिविधियों पर समाचार के माध्यम से नजर बनाए रखें।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें