DA Image
Monday, November 29, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार बिहारशरीफचापाकल बेकार, पानी के लिए छात्र लगाते हैं दौड़

चापाकल बेकार, पानी के लिए छात्र लगाते हैं दौड़

हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 09:40 PM
चापाकल बेकार, पानी के लिए छात्र लगाते हैं दौड़

चापाकल बेकार, पानी के लिए छात्र लगाते हैं दौड़

कतरीडीह स्कूल में 350 बच्चे नामांकित, एक अदद शौचालय तक नहीं

कतरीसराय। निज संवाददाता

प्रखंड के उत्क्रमित मध्य विद्यालय कतरी डीह में मूलभूत सुविधाओं का घोर अभाव है। यहां लगभग 350 बच्चे नामांकित हैं। लेकिन, प्यास बुझाने के लिए विद्यालय में एक भी चापाकल ठीक है। न ही शौचालय सही है। हालांकि स्कूल में दो दो चापाकल हैं। लेकिन दोनों ही महीनों से खराब हैं। छात्रों को पानी पीने के लिये सड़क पार करके प्रखंड परिसर स्थित चापाकल पर जाना पड़ता है। कभी कभी तो उन्हें गांव की दौड़ तक लगानी पड़ती है। बड़े छात्र तो किसी तरह पानी की व्यवस्था कर लेते हैं। पर छोटे बच्चों को काफी परेशानी होती है। वाहनों की आवाजाही से दुर्घटना की आशंका भी बनी रहती है।

यहां केवल पानी की समस्या नहीं है। कहने को तो दो दो शौचालय भी हैं। लेकिन दोनों ही बेकार हैं। इससे छात्रों को शौच के लिए सोचना पड़ता है। छात्राओं को तो काफी परेशानी होती है। ऐसे हालात में उन्हें लज्जित भी होना पड़ता है। स्कूल की चहारदिवारी भी पूर्व में सालों से गिरी हुई है। इससे बाहरी आवारा पशु भी परिसर में प्रवेश कर जाते हैं। इसके कारण छोटे बच्चों को चोट लगने की आशंका भी बनी रहती है।

प्रधानाध्यापिका शैला सिंहा ने बताया कि बिगड़े चापाकल को कई बार बनाया गया। लेकिन, हर बार खराब हो जाता है। जब तक नया चापाकल नहीं लगेगा। तब तक इसका स्थायी समाधान नहीं होगा। इसके लिए प्रयास जारी है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें