ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार बिहारशरीफअच्छी पहल : जिले के 39 होनहार युवाओं को मुफ्त मिलेंगी प्रतियोगी पुस्तकें

अच्छी पहल : जिले के 39 होनहार युवाओं को मुफ्त मिलेंगी प्रतियोगी पुस्तकें

अच्छी पहल : जिले के 39 होनहार युवाओं को मुफ्त मिलेंगी प्रतियोगी पुस्तकें अच्छी पहल : जिले के 39 होनहार युवाओं को मुफ्त मिलेंगी प्रतियोगी पुस्तकें अच्छी पहल : जिले के 39 होनहार युवाओं को मुफ्त मिलेंगी...

अच्छी पहल : जिले के 39 होनहार युवाओं को मुफ्त मिलेंगी प्रतियोगी पुस्तकें
हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफFri, 08 Dec 2023 10:15 PM
ऐप पर पढ़ें

अच्छी पहल : जिले के 39 होनहार युवाओं को मुफ्त मिलेंगी प्रतियोगी पुस्तकें
16 प्रशिक्षित युवाओं को दी जाएगी मशीन समेत टूल किट

युवाओं को हुनरमंद बनाने के साथ ही रोजगार से जोड़ने की पहल

नियोजनालय युवाओं को दे रहा कई तरह की सुविधाएं

मॉडल कॅरियर सेंटर में अध्ययन से लेकर अभ्यास करने तक की व्यवस्था

फोटो :

टूल किट : प्रशिक्षित युवाओं को देने के लिए आयी किट की जांच करते जिला नियोजनालय के यंग प्रोफेशनल तारा अमित व अन्य अधिकारी।

बिहारशरीफ, निज संवाददाता।

युवाओं को हुनरमंद बनाकर नौकरी व स्वरोजगार से जोड़ने के लिए बिहारशरीफ मॉडल कॅरियर सेंटर (एमसीसी) हर तरह से उनकी मदद कर रहा है। अब ऐसे 39 होनहार गरीब युवाओं को प्रतियोगिता की तैयारी करने के लिए एक हजार रुपए तक की मुफ्त प्रतियोगी पुस्तकें भी उपलब्ध कराएगा। दिसंबर के अंतिम सप्ताह तक युवाओं को पुस्तकें मिल जाएंगी। इसके साथ ही, जिले के 16 प्रशिक्षित युवाओं (इलेक्ट्रीशियन व फीटर) को भी ड्रिल मशीन, हथौड़ी, स्केल, रिंच, मल्टीमीटर समेत कई टूल्स दिए जाएंगे। इसके लिए इनका चयन हो चुका है। सात प्रशिक्षित युवाओं को किट दी जा चुकी है। अन्य को भी दिसंबर अंत तक उपलब्ध करा दी जाएगी।

जिला नियोजन पदाधिकारी अंकित राज ने बताया कि युवाओं को हुनरमंद बनाने के साथ ही स्वरोजगार से जोड़ने की यह अच्छी पहल है। नियोजनालय युवाओं को कई तरह की सुविधाएं दे रहा है। एमसीसी में अध्ययन से लेकर अभ्यास करने तक की व्यवस्था की गयी है। यहां लगे 12 कम्प्यूटर पर प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी करने की सुविधा मिल रही है। पांच ऑपरेटरों की बाई-फाई लगायी गयी है। यहां देशभर के नामी-गिरामी दक्ष लोग ऑनलाइन इन युवाओं को उनके विषयों में पढ़ाते हैं। इसका लाभ युवाओं को मिल रहा है। पुस्तकालय में भी रोजाना 50 से अधिक छात्र अध्ययन के लिए पहुंच रहे हैं। इतना ही नहीं, एनसीएस (नेशनल सर्विस स्कीम) पोर्टल पर अपनी रुचि के अनुसार वे नौकरी के लिए आवेदन भी कर सकते हैं।

सभी को किट:

यंग प्रोफेशनल तारा अमित ने बताया कि हर वर्ष इस तरह से युवाओं को किट दी जाएगी। इसके लए एक लाख 80 हजार से कम सालाना आमदनी वाले परिवार के युवा आवेदन कर सकते हैं। उनका कम से कम एक साल पहले जिला नियोजनालय में निबंधन होना आवश्यक है। एमसीसी ऐसे युवाओं की हर तरह से मदद करने को तैयार है। काउंसिलिंग से लेकर रोजगार मेला तक यहां लगाया जाता है। सैकड़ों लोग अब तक इसके माध्यम से नौकरी पा चुके हैं। जबकि, दर्जनों युवा स्वरोजगार से कमाई कर रहे हैं। इन योजनाओं की जानकारी वे पोर्टल पर भी ले सकते हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें