DA Image
Friday, December 3, 2021
हमें फॉलो करें :

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ बिहार बिहारशरीफदेवोत्थान एकादशी आज, 4 माह की निद्रा से जागेंगे भगवान श्रीविष्णु

देवोत्थान एकादशी आज, 4 माह की निद्रा से जागेंगे भगवान श्रीविष्णु

हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफNewswrap
Sun, 14 Nov 2021 09:40 PM
देवोत्थान एकादशी आज, 4 माह की निद्रा से जागेंगे भगवान श्रीविष्णु

देवोत्थान एकादशी आज, 4 माह की निद्रा से जागेंगे भगवान श्रीविष्णु

इस बार हो रहा वज्र, गद और अमृत योग का महामिलन

श्री हरि और माता लक्ष्मी की श्रद्धालु करेंगे विशेष पूजा

बिहारशरीफ। कार्यालय प्रतिनिधि

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवउठनी एकादशी या देवोत्थान एकादशी या ज्येष्ठा एकादशी के नाम से जाना जाता है। इस दिन भगवान श्रीविष्णु चार माह की निद्रा के बाद जागते हैं। हिंदू धर्म में एकादशी का बहुत अधिक महत्व है।

ज्योतिष के जानकार पं. मोहन कुमार दत्त मिश्र बताते हैं कि सोमवार देवउठनी एकादशी है। इसी के साथ सभी मांगलिक कार्य आरंभ हो जाएंगी। इस दिन एकादशी तिथि का मान दिन में 8. 50 तक है। जबकि, प्रारंभ रविवार को दिन में 8.59 से हुआ। इसे प्रबोधिनी एकादशी भी कहा जाता है। उन्होंने बताया कि इस बार देवोत्थान एकादशी पर वज्र, गद और अमृत योग का मिलन हो रहा है। यह काफी शुभ फलदायक है। एकादशी तिथि भगवान विष्णु को समर्पित है। विधि- विधान से भगवान विष्णु की पूजा- अर्चना करने से धन- हानि की समस्या से छुटकारा मिलती है। धन की देवी माता लक्ष्मी भगवान विष्णु की अर्धांगिनी हैं। इस पावन दिन भगवान विष्णु के साथ ही माता लक्ष्मी का ध्यान भी करना चाहिए। इस दिन ईख खाने की भी परंपरा है।

सब्सक्राइब करें हिन्दुस्तान का डेली न्यूज़लेटर

संबंधित खबरें