ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार बिहारशरीफस्कूलों के समय में बदलाव का अनुपालन बनी चुनौती

स्कूलों के समय में बदलाव का अनुपालन बनी चुनौती

स्कूलों के समय में बदलाव का अनुपालन बनी चुनौतीस्कूलों के समय में बदलाव का अनुपालन बनी चुनौतीस्कूलों के समय में बदलाव का अनुपालन बनी चुनौतीस्कूलों के समय में बदलाव का अनुपालन बनी चुनौतीस्कूलों के समय...

स्कूलों के समय में बदलाव का अनुपालन बनी चुनौती
हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफSat, 02 Dec 2023 10:45 PM
ऐप पर पढ़ें

स्कूलों के समय में बदलाव का अनुपालन बनी चुनौती
अनुपालन कराने के लिए अधिकारी चिंतित

रात के अंधेरे में गांव से लौट रहीं महिला शिक्षिकाएं

घर वालों को सता रही सुरक्षा की चिंता

हरनौत, निज संवाददाता।

स्कूलों के समय में परिवर्तन किया गया है। इसका पालन कराना विभाग के लिए चुनौती बन गयी है। पहली दिसंबर से सुबह नौ बजे से संध्या पांच बजे तक स्कूलों में रहने की बाध्यता व विभाग द्वारा जारी शिड्यूल के अनुसार काम करना है। इसका पालन कराने की जवाबदेही अधिकारियों की है। सभी एचएम को अलर्ट कर दिया गया है। हालांकि, इसका अनुपालन कराने के लिए अधिकारी चिंतित हैं। वहीं रात के अंधेरे में गांव से महिला शिक्षिका लौट रहीं हैं। उनकेघर वालों को सुरक्षा की चिंता सता रही है।

बीईओ सुरेंद्र कुमार सिन्हा ने बताया कि बच्चों की कक्षा खत्म होने के बाद दक्ष मिशन के तहत कमजोर छात्र व छात्राओं को आगे लाने के लिए विशेष कक्षा चलाया जाना है। हर विद्यालय में छात्रों की उपस्थिति हर हाल में 50 फीसदी से अधिक करना है। कम उपस्थिति वाले स्कूलों को चिन्हित किया जा रहा है। इससे स्कूलों में काफी सुधार हुआ है। सबसे अधिक दूर दराज गांवों में पढ़ाने वाली शिक्षिकाओं को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। अंधेरा के कारण वाहन चालक भी मुंह मांगा किराया मांगते हैं।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें