DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  बिहारशरीफ  ›  72 दिन बाद जिले में कोरोना के एक्टिव रोगियों की संख्या 138
बिहारशरीफ

72 दिन बाद जिले में कोरोना के एक्टिव रोगियों की संख्या 138

हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफPublished By: Newswrap
Sat, 12 Jun 2021 09:50 PM
72 दिन बाद जिले में कोरोना के एक्टिव रोगियों की संख्या 138

72 दिन बाद जिले में कोरोना के एक्टिव रोगियों की संख्या 138

नौ दिनों में मिले 100 नए मामले, 408 लोग हुए रिकवर

फोटो:

नूरसराय वैक्सीन: नूरसराय की पंचायत सरकार भवन बड़ारा में लोगों को कोरोना का वैक्सीन देतीं एएनएम संगीता कुमारी।

बिहारशरीफ। निज संवाददाता

नालंदा में 72 दिनों बाद एक्टिव रोगियों की संख्या डेढ़ सौ से नीचे 138 पहुंची है। हाल के नौ दिनों में कोरोना संक्रमण के 100 नए मामले मिले। जबकि, इसी समय में 408 लोग ठीक भी हुए। इन नौ दिनों में अलग अलग जगहों पर जिला के मात्र सात लोगों की जान गयी। अब भी रोजाना ढाई हजार से अधिक सैंपलों की एंटीजन व आरटीपीसीआर जांच चल रही है। बावजूद इकाई अंक में ही संक्रमण के मामले मिल रहे हैं। जबकि, ठीका होने वाले संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है।

कोरोना की दूसरी लहर 22 मार्च को शुरू हो गयी थी। लेकिन, इसकी आक्रामकता 18 दिन बाद से बढ़ी। नौ अप्रैल को एक दिन में 86 नए मामले मिले थे। उस दिन जिला में कोरोना के 158 एक्टिव मामले थे। जबकि, दूसरी लहर में इस दौरान एक की भी मौत नहीं हुई थी। 11 अप्रैल को कोरोना की दूसरी लहर में पहली मौत हुई थी। उस दिन एक्टिव रोगियों की संख्या 196 पहुंच चुकी थी। दूसरी लहर का पीक टाइम दो मई को रहा, जब जिला में एक दिन में सबसे अधिक सक्रिय रोगियों की संख्या चार हजार 510 पहुंच चुकी थी। दूसरी लहर में इस दौरान 59 लोगों ने जान गंवायी।

गांवों में टीकाकरण की रफ्तार बेहद धीमी महज 37.5 फीसदी:

पंचायतों में 60 लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा गया था। इसके लिए सदर अस्पताल, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के अलावा पंचायतों में टीम की तैनाती की गयी थी। इस तरह से गुरुवार को 249 सेंटरों पर 14 हजार 490 लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य था। लाख प्रयास के बावजूद महज 37.5 फीसदी थी। यानि महज पांच हजार 600 लोगों ने ही वैक्सीन ली। इनमें से 94 लोगों को कोरोनारोधी टीका का दूसरा डोज दिया गया। गांवों में टीकाकरण की रफ्तार बेहद धीमी है।

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. मनोज कुमार ने लोगों से निडर होकर सेंटर पर आकर टीका लगवाने की अपील की। उन्होंने कहा कि टीका पूरी तरह सुरक्षित है। इसे लेकर किसी शंका संशय में रहने की आवश्यकता नहीं है।

81 फीसदी बिंद में तो महज 8 फीसद बेन में :

सबसे अधिक बिंद में लोगों ने टीका लिया। यहां की सात पंचायतों में 420 लोगों को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य दिया गया था। 81 फीसदी यानि 340 लोगों ने वैक्सीन लगवायी। वहीं बेन की नौ पंचायतों में 540 लोगों को वैक्सीन देने का लक्ष्य था। इसके विरुद्ध मात्र 8 फीसदी यानि 80 लोगों ने वैक्सीन लगवायी। दूसरे नंबर पर 80 फीसदी के साथ गिरियक, 70 फीसदी के साथ बिहारशरीफ सदर रहा।

नूरसराय में 630 लोगों को दिया गया कोरोना रोधी वैक्सीन:

गुरुवार को विशेष कोरोना रोधी टीकाकरण अभियान के तहत प्रखंड क्षेत्र में 16 स्थानों पर 18 प्लस व 60 प्लस उम्र के कुल 630 लोगों को वैक्सीन दिया गया। हेल्थ मैनेजर शाहिद ने बताया कि 18 प्लस उम्र के 520 लोगों को वैक्सीन का पहला डोज दिया गया। 45 प्लस उम्र के 79 लोगों को पहला डोज, 60 प्लस उम्र के 24 लोगों को पहला डोज और 60 प्लस उम्र के कुल 07 लोगों को वैक्सीन का दूसरा डोज दिया गया। 102 लोगों की कोरोना रैपिड एंटीजन किट से जांच की गयी। इसमें सभी की रिपोर्ट निगेटिव आयी। स्वास्थ्य विभाग के चलंत नि:शुल्क जांच वाहन द्वारा परासी गांव में आरटीपीसीआर जांच के लिए 61 लोगों का सैंपल लिया गया।

संबंधित खबरें