DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   बिहार  ›  बिहारशरीफ  ›  जिले में 31 दिन बाद एक्टिव रोगियों की संख्या डेढ़ हजार के नीचे

बिहारशरीफजिले में 31 दिन बाद एक्टिव रोगियों की संख्या डेढ़ हजार के नीचे

हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफPublished By: Newswrap
Mon, 24 May 2021 09:30 PM
जिले में 31 दिन बाद एक्टिव रोगियों की संख्या डेढ़ हजार के नीचे

जिला में 31 दिन बाद एक्टिव रोगियों की संख्या डेढ़ हजार के नीचे

22 अप्रैल को एक्टिव रोगियों की संख्या थी 1442

24 मई को फिर एक्टिव मामलों की संख्या हुई 1452

जांच बढ़ी पर रोजाना 100 से भी कम मिल रहे संक्रमित

दो चलंत वाहनों से गांवों में भी हो रही कोरोना जांच

फोटो:

कोरोना टेस्ट: नूरसराय कॉलेज में सोमवार को कोरोना जांच के लिए सैंपल लेते स्वास्थ्यकर्मी।

बिहारशरीफ। निज संवाददाता

जिले में 31 दिन बाद कोरोना के एक्टिव रोगियों की संख्या डेढ़ हजार के नीचे आयी है। 22 अप्रैल को जिले में एक्टिव रोगियों की संख्या एक हजार 442 थी। इसके बाद से दूसरी लहर में इसमें तेजी आयी। मात्र 11 दिन बाद इसमें तेजी आने से दो मई को एक्टिव रोगियों की संख्या चार हजार 510 हो गयी थी। अगले छह दिनों तक यानि आठ मई तक कमोबेश यह आंकड़ा चार हजार के आसपास रहा। नौ मई से इसमें गिरावट आनी शुरू हुई। इसके बाद से लगातार यह आंकड़ा नीचे खिसकता गया। 24 मई को कोरोना के एक्टिव रोगियों की संख्या फिर से एक हजार 452 हो गयी। जबकि, जिले में रोजाना दो से ढाई हजार सैंपलों की जांच जारी रही। रविवार से तो गांव-गांव जाकर चलंत वाहनों से भी कोरोना की जांच की जा रही है।

सीएस डॉ. सुनील कुमार ने बताया कि नए संक्रमित अब कम मिल रहे हैं। लेकिन, हम किसी तरह की लापरवाही नहीं कर सकते। अभी हमें और सतर्क रहने की आवश्यकता है। अधिक से अधिक लोगों को टीका लगाने के लिए जल्द ही टीका एक्सप्रेस वाहन चलेंगे। यह गांव-गांव जाकर लोगों को वैक्सीन लगाएंगे। इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए स्वास्थ्य विभाग टीकाकरण पर जोर दे रहा है। इस बीच एक-दो गांवों से टीकाकरण के बहिष्कार की भी बातें आ रही हैं। ऐसा करना बिल्कुल ही गलत बात है। सबों को टीका लगवाना चाहिए।

एक माह में पॉजिटिविटी रेट 15 से घटकर 3.4 फीसद:

नालंदा में एक माह के अंदर पॉजिटिविटी रेट में लगभग 12 फीसद की गिरावट आयी है। अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. राजेन्द्र कुमार राजेश ने बताया कि अप्रैल में संक्रमण दर 15-16 फीसद थी। अब यह दर 3.4 फीसद हो गयी है। जो संक्रमित मरीज थे, उनमें से अधिकतर ठीक हो चुके हैं। होम आइसोलेशन में रहने वाले संक्रमितों पर भी पैनी नजर रखी जा रही है। हिट एप के माध्यम से उनकी रोजाना जानकारी ली जा रही है।

रिकवर हुए लोग भी रहें सतर्क:

एसीएमओ ने बताया कि रिकवर हो चुके रोगियों को भी सतर्क रहने की आवश्यकता है। कोरोना आम सर्दी-जुकाम की तरह नहीं है, जो दवा या केवल गरम पानी पीने से ठीक हो जाएगा। अभी भी ऐसे लक्षणों की अनदेखी बिल्कुल न करें। इसके लिए बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, स्थानीय अस्पताल या अन्य जगह जाकर जांच करा सकते हैं।

कोरोनारोधी टीका अवश्य लगवाएं:

पूर्ण टीकाकरण से संक्रमण की आशंका को काफी हद तक खत्म किया जा सकता है। बहुत से लोग टीका नहीं लगवा रहे हैं। ऐसे में संक्रमण फैलने की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है। इसका दोनों डोज समय पर अवश्य लें। अब भी हर स्तर पर सतर्कता आवश्यक है।

आंकड़ों की नजर में दर्ज गिरावट:

तिथि: नए मामले- ठीक हुए रोगी- एक्टिव मामले

23 मई- 86- 337- 1442

22 मई- 100- 361- 1743

21 मई- 129- 174- 2181

20 मई- 217- 346- 2230

19 मई- 212- 238- 2364

18 मई- 232- 198- 2392

17 मई- 336- 182- 2365

16 मई- 193- 471- 2324

15 मई- 220- 329- 2608

संबंधित खबरें