ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News बिहार बिहारशरीफराजगीर नगर की सफाई पर हर माह 50 लाख खर्च, मोहल्लों में पसरी है गंदगी

राजगीर नगर की सफाई पर हर माह 50 लाख खर्च, मोहल्लों में पसरी है गंदगी

राजगीर नगर की सफाई पर हर माह 50 लाख खर्च, मोहल्लों में पसरी है गंदगीराजगीर नगर की सफाई पर हर माह 50 लाख खर्च, मोहल्लों में पसरी है गंदगीराजगीर नगर की सफाई पर हर माह 50 लाख खर्च, मोहल्लों में पसरी है...

राजगीर नगर की सफाई पर हर माह 50 लाख खर्च, मोहल्लों में पसरी है गंदगी
हिन्दुस्तान टीम,बिहारशरीफThu, 13 Jun 2024 10:30 PM
ऐप पर पढ़ें

राजगीर नगर की सफाई पर हर माह 50 लाख खर्च, मोहल्लों में पसरी है गंदगी
लोग गंदगी को लेकर उठा रहे नगर प्रशासन पर सवाल, कहा-सड़कों पर दिनभर बिखरा रहता है कचरा

फोटो :

वार्ड राजगीर : राजगीर नगर पंचायत के वार्ड 23 और 21 की सड़क पर फैली गंदगी।

राजगीर, कार्यालय संवाददाता।

राजगीर नगर परिषद की सफाई व्यवस्था पर हर माह 50 लाख खर्च किया जा रहा है। बावजूद शहर में गंदगी का अंबार लगा हुआ है। वार्डो में सफाई व्यवस्था काफी लचर है। सफाई के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति की जा रही है। आउटसोर्सिंग एजेंसी को सफाई के नाम पर नगर परिषद हर माह काफी राशि देत रही है। बावजूद सफाई व्यवस्था जीरो है।

शहर के वार्ड 23 और 21 के बीचली कुआं जाने वाली सड़क पर चार दिनों से कचरा का अंबार लगा हुआ है। यह गंदगी सड़कों पर बिखरी हुई है। इसका सुध लेने वाला कोई नहीं है। रेलवे स्टेशन, उपाध्याय टोला, गांधी टोला, डांगी टोला जाने वाले राहगीरों को इससे काफी परेशानी हो रही है। शहर के लोग नगर प्रशासन पर सफाई को लेकर सवाल उठाने लगे हैं।

शहरवासी शांति देवी, सुरेश राजवंशी, कविंद्र कुमार, अजय यादव, धीरज कुमार व अन्य ने बताया की चार दिन से नाली की सफाई की जा रही है। लेकिन, महज इसकी खानापूर्ति हो रही है। सुबह आठ बजे दो सफाई कर्मी आता है और 10 बजे चला जाता है। सफाई करवाने वाला वार्ड जमादार भी फरार रहता है। चार दिनों में चालीस फिट भी नाली की सफाई नहीं हुई है।

वार्ड पार्षद चंद्रवंशी सविता कुमारी ने कहा कि शहर में सफाई के नाम पर बंदरबांट चल रहा है। एजेंसी ज्यादा सफाई कर्मचारी दिखाकर लाखों की खर्च दिखा रही है। वार्ड जमादार के नाम पर जन प्रतिनिधियों के द्वारा अपने रिश्तेदारों को रखा जा रहा है। कई को तो बिना काम किए ही वेतन दिया जा रहा है। गलियों की सफाई के लिए वे बोर्ड में इस समस्या को उठाएंगी।

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।