DA Image
21 अक्तूबर, 2020|6:31|IST

अगली स्टोरी

सुपौल में नाबालिग से दुष्कर्म के बाद हत्या में युवक को मिली उम्रकैद

court

नाबालिग से दुष्कर्म के बाद हत्या कर शव गायब करने के मामले में एडीजे वन सह विशेष न्यायाधीश अशोक कुमार सिंह की अदालत ने मंगलवार को एक अभियुक्त को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। कोर्ट ने त्रिवेणीगंज थाना के करहरवा निवासी अर्जुन यादव पर अलग-अलग धाराओं में डेढ़ लाख का जुर्माना भी लगाया है। पीड़िता की मां की शिकायत पर  अर्जुन यादव को नामजद किया गया था।

कोर्ट ने भादवि की धारा 376 के तहत 10 साल का कठोर कारावास व 50 हजार जुर्माना, 364 के तहत 10 साल व 50 हजार जुर्माना और भादवि की धारा 302/201 के तहत आजीवन कारावास (शेष प्राकृत जीवन के अंतिम सांस तक) और 50 हजार के अर्थदंड की सजा सुनाई। सभी सजाएं साथ-साथ चलेंगी और अर्थदंड की राशि पीड़िता के माता-पिता को देनी होगी। अभियोजन की तरफ से विशेष लोक अभियोजक नीलम कुमारी और बचाव पक्ष से विनोदकांत झा ने बहस की। अभियोजन पक्ष से डॉक्टर और पुलिस सहित 14 लोगों ने गवाही दी। 

कोर्ट ने 16 मार्च 2020 को पॉक्सो कांड संख्या 47/18 की सुनवाई करते हुए नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपित अर्जुन यादव को भादवि की धारा 376, 4/6 पॉक्सो एक्ट के तहत दोषी करार दिया था। हालांकि सजा के बिंदु पर सुनवाई के लिए 23 मार्च का समय मुकर्रर की गई थी। लेकिन लॉकडाउन के कारण फैसला आने में देरी हुई।

सीसीटीवी में मासूम को ले जाते दिखा था  
बताया जा रहा है कि 18 जुलाई 2018 की शाम बच्ची (6 साल) बाल कटिंग कराने गई थी। बाल कटिंग कराने के बाद शाम करीब सात बजे घर लौट रही थी। इसी दौरान अर्जुन यादव बहला-फुसलाकर उसे सुनसान जगह ले जाकर दुष्कर्म किया। साक्ष्य छुपाने के उद्देश्य से उसकी हत्या कर शव को गायब कर दिया था। काफी खोजबीन के बाद भी उसका शव नहीं मिला। पुलिस जांच के दौरान बाजार में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज में अर्जुन यादव मासूम को ले जाते दिखा था।  

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:young man gets life imprisonment for brutal murder after raping a minor girl in Supaul