DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

VIDEO: सुपौल में बदमाशों को छोड़ने पर ग्रामीणों ने किया हंगामा, पुलिसकर्मियों को बनाया बंधक

villagers created hostage to policemen on leaving criminals in supaul

सुपौल के छातापुर में ग्रामीणों ने पुलिस को पकड़कर सौंपे गये बदमाशों को रिश्वत लेकर छोड़ देने का आरोप लगाते हुए जमकर बवाल काटा। गांव में पहुंची पुलिस को ग्रामीणों ने बंधक बना लिया और पुलिस वाहन के टायर की हवा निकाल दी। घटना शुक्रवार रात साढ़े 8 बजे भीमपुर थाना क्षेत्र के ठुठी पंचायत की है। देर रात त्रिवेणीगंज के एएसपी घटनास्थल पर पहुंचे और ग्रामीणों को कार्रवाई का भरोसा दिया इसके बाद ग्रामीणों ने पुलिसकर्मियों को छोड़ा। 

बताया जा रहा है कि ठुठी पंचायत के अखराहा के 76 आरडी नहर के पास शुक्रवार की शाम फुलकाहा थाना क्षेत्र मोधरा के रहने वाले सनोज पासवान, मनोज पासवान और पंकज पासवान वहां रामदेव मंडल की दुकान पर कोल ड्रिंक्स पीने आये थे। इस दौरान वहां पहुंचे एक ग्रामीण गंगा मंडल का वे लोग जबरन गमछा छीनने लगे। विरोध करने पर उन्होंने गंगा मंडल से हाथापाई शुरू कर दी। एक बदमाश ने पिस्तौल भी सटा दिया। इस बीच हो-हल्ला होने पर भारी संख्या में आसपास के ग्रामीण जब जुटे तो बदमाश हवा में एक गोली चलाकर भागने लगे। हालांकि ग्रामीणों ने तीनों को खदेड़कर पकड़ लिया और उनकी जमकर धुनाई कर दी। इस बीच सूचना मिलने पर भीमपुर थाना के एएसआई मिथिलेश राम वहां पहुंचे। ग्रामीणों ने तीनों बदमाशों को उनके हवाले कर दिया।
 
ग्रामीणों का आरोप है कि तीनों को भीमपुर थाना लाना के बजाय पुलिस उन्हें नरपतगंज की ओर ले जाने लगी। इस बीच गांव में सूचना आयी कि पुलिस ने तीनों बदमाशों को छोड़ दिया है। इसके बाद ग्रामीण उग्र हो गये और उन्होंने पहले बदमाशों की स्कॉर्पियो बीआर 11 वाई 3370 को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया। हो-हंगामे की सूचना पर वहां पहुंचे भीमपुर थाना के पुलिसकर्मियों को बंधक बना लिया। उनके वाहन के सभी टायर की हवा निकाल दी। ग्रामीणों ने गांव में आने और गांव से निकलने वाले रास्ते पर भी जाम कर दिया।
 
बदमाशों को उनके ग्रामीणों ने छुड़ाया
भीमपुर थानाध्यक्ष विश्वनाथ प्रसाद रवि का कहना है कि ग्रामीणों की पिटाई से बुरी तरह घायल तीनों बदमाशों को इलाज के लिए नरपतगंज ले जा रही थी। रास्ते में मोधरा के ग्रामीणों ने पुलिस टीम पर हमला कर तीनों को जबरन छुड़ा लिया। रुपये लेकर बदमाशों को छोड़ने के ग्रामीणों के आरोप गलत हैं। 

वहीं देर रात त्रिवेणीगंज के एएसपी जितेंद्र कुमार घटनास्थल पर पहुंचे और मामले की जानकारी लेने के बाद ग्रामीणों को जांच कर कार्रवाई का भरोसा दिया। इसके बाद ग्रामीणों का गुस्सा शांत हुआ और बंधक बनाए पुलिसकर्मियों को छोड़ा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Villagers created hostage to policemen on leaving criminals in Supaul