DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

टुनटुन साह के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव गिरा, बने रहेंगे जिला परिषद अध्यक्ष

unbelief proposal dropped against Zila Parishad president tuntun sah Will remain District Council Pr

जिला परिषद अध्यक्ष के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव मंगलवार को गिर गया। बैठक में जिला परिषद के 31 सदस्यों में से मात्र 11 सदस्य उपस्थित थे। अविश्वास प्रस्ताव गिरने के बाद कुछ सदस्य और उनके समर्थकों ने हंगामा शुरू कर दिया। इनलोगों ने जिप अध्यक्ष के कार्यालय में तोड़फोड़ की। घटना के बाद पहुंची पुलिस मामले की जांच कर रही है।

जिला परिषद के सात सदस्यों ने तीन जनवरी को अध्यक्ष के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया था। नोटिस पर जिप अध्यक्ष अनंत कुमार उर्फ टुनटुन साह ने 15 जनवरी को बैठक की तिथि निर्धारित की थी। मंगलवार को जिला परिषद के सभाकक्ष में आयोजित बैठक की अध्यक्षता जिप उपाध्यक्ष आरती कुमारी ने की। बैठक में जिप अध्यक्ष के अलावा 19 सदस्य उपस्थित नहीं हुए।

उपस्थित सदस्यों ने जिप अध्यक्ष पर कई गंभीर आरोप भी लगाये।  जिला परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी सह डीडीसी सुनील कुमार ने बताया कि बैठक में पहले चर्चा हुई। सदस्यों ने अपने विचार रखे। वोटिंग के लिए कम से कम 16 सदस्यों का उपस्थित होना जरूरी था। 11 सदस्य रहने के चलते मत विभाजन नहीं हुआ और अविश्वास प्रस्ताव को गिरा हुआ मान लिया गया। 

बैठक के बाद हंगामा
बैठक से निकलने के बाद कई सदस्यों ने अध्यक्ष के विरुद्ध नारेबाजी की। अध्यक्ष के कक्ष में तोड़फोड़ भी हुई। अध्यक्ष के कक्ष में ताला लगा दिया। घटना के बाद पुलिस और मजिस्ट्रेट पहुंचे और घटना की जानकारी ली। इस दौरान जिला परिषद के सामने काफी भीड़ जमा हो गयी।

हंगामा होने की जानकारी एसडीओ को दी: डीडीसी
जिला परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया कि 11 जनवरी को बैठक की जानकारी डीएम को दी गयी थी। डीएम ने 13 जनवरी को एसएसपी और सदर एसडीओ को पत्र भेजकर शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए मजिस्ट्रेट और पुलिस की तैनाती करने का निर्देश दिया था। बैठक के बाद सभाकक्ष में कागजी प्रक्रिया पूरी कर रहे थे। तभी नीचे हंगामा होने लगा। इसकी तत्काल सूचना सदर एसडीओ को दी गई। सदर एसडीओ द्वारा बताया गया कि गोराडीह बीडीओ को वहां मजिस्ट्रेट प्रतिनियुक्त किया गया है। पुन: डीएम की गोपनीय शाखा में भी हंगामा होने की जानकारी दी। नीचे उतरने के बाद स्थिति सामान्य हो गयी थी। मजिस्ट्रेट से रिपोर्ट मिलने के बाद नुकसान की जानकारी मिल पाएगी। तोड़फोड़ को लेकर कार्रवाई मजिस्ट्रेट करेंगे।
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:unbelief proposal dropped against Zila Parishad president tuntun sah Will remain District Council President