DA Image
27 फरवरी, 2021|9:22|IST

अगली स्टोरी

कालीबाड़ी में इस बार श्रद्धालुओं को नहीं मिलेगा हड़िया भोग

default image

कालीबाड़ी दुर्गा पूजा समिति की बैठक रविवार को मंदिर प्रागंण में अध्यक्ष डॉ. सुजाता चौधरी की अध्यक्षता में हुई। बैठक में सदस्यों ने कहा कि अगर प्रशासन की अनुमति मिलती है तो छोटी प्रतिमा स्थापित कर पूजा-अर्चना की जायेगी। प्रतिमा स्थापित करने के संदर्भ में जल्द ही डीएम से प्रतिनिधिमंडल मिलने जायेगा।

महासचिव विलास कुमार बागची ने बताया कि प्रतिमा की अनुमति अगर नहीं मिली तो मां की फोटो या कलश की पूजा की जाएगी। इस बार श्रद्धालुओं को हड़िया भोग नहीं मिलेगा। सभी को प्रसाद प्लेट में दिया जायेगा। इसके साथ ही सांस्कृतिक कार्यक्रम भी रद्द कर दिया गया है। भव्य पंडाल भी नहीं बनेगा। मौके पर मुख्य संरक्षक डॉ. हेमशंकर शर्मा, कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. विश्वजीत चटर्जी, कोषाध्यक्ष रजत मुखर्जी आदि मौजूद थे।

दुर्गापूजा को लेकर संशय, समिति से लेंगे राय

दुर्गापूजा को लेकर अभी भी संशय बरकरार है। दुर्गा पूजा महासमिति के पदाधिकारियों ने रविवार को बूढ़ानाथ मंदिर में संरक्षक कमल जयसवाल के नेतृत्व में समीक्षा बैठक की। महासमिति के संरक्षक भगवान यादव, जयनंदन आचार्य, माणिक पासवान, कन्हैया लाल ने कहा कि कोरोना काल में प्रशासन की सहमति से ही प्रतिमा स्थापित की जाएगी। पूजा समिति किसी प्रकार से कानून को अपने हाथ में नहीं लेगी।

कार्यक्रम का संचालन करते हुए महासचिव अभय घोष सोनू ने कहा कि पूजा के संदर्भ में एक सप्ताह के अंदर सभी कमेटी के पदाधिकारियों की राय ली जायेगी। उसके बाद डीएम से मिलकर पूजा की स्वरूप पर चर्चा होगी। प्रवक्ता विनय कुमार सिन्हा ने बताया कि अभी तक पूजा को लेकर प्रशासन से कोई गाइडलाइन नहीं मिला है। इसीलिए प्रतिमा स्थापित करने को लेकर संशय बना हुआ है। मौके पर तरूण घोष, सुरविंद भट्ट आदि मौजूद थे। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:This time devotees will not get handicap in Kalibari