DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › भागलपुर › अदालत को गुमराह कर बेल लेने वाले शातिर ने किया सरेंडर, गया जेल
भागलपुर

अदालत को गुमराह कर बेल लेने वाले शातिर ने किया सरेंडर, गया जेल

हिन्दुस्तान टीम,भागलपुरPublished By: Newswrap
Thu, 16 Sep 2021 06:50 AM
अदालत को गुमराह कर बेल लेने वाले शातिर ने किया सरेंडर, गया जेल

भागलपुर, कार्यालय संवाददाता

कोतवाली थानाक्षेत्र में हुई डकैती के मामले में आरोपी बनाये गये शातिर पिंटू ने बुधवार को एडीजे अतुलवीर सिंह की अदालत में सरेंडर कर दिया। एडीजे अतुल वीर सिंह ने उसे न्यायिक हिरासत में लेते हुए जेल भेज दिया। गौरतलब हो कि इसी शातिर पिंटू ने बीते दिन कोर्ट को गुमराह करके अपना जमानत करा लिया था। लेकिन जब एपीपी की अर्जी पर एडीजे अतुल वीर सिंह ने उसकी जमानत को रद्द करते हुए सात दिन के अंदर सरेंडर का आदेश सुनाया तो शातिर बुधवार को जेल पहुंच गया।

हाईकोर्ट में जमानत के लिए अर्जी दाखिल करने के बावजूद बोला था झूठ

जेल में बंद रहे पिंटू मिश्रा उर्फ अमित कुमार को जेल से बाहर निकालने के लिए व्यवहार न्यायालय भागलपुर के एडीजे-11 अतुलवीर सिंह की अदालत में झूठी जानकारी दी गयी थी। उनके कोर्ट में झूठी जानकारी दी गयी कि पिंटू ने जमानत के लिए हाई कोर्ट का दरवाजा नहीं खटखटाया है। जबकि इसने पूर्व में ही हाईकोर्ट में जमानत के लिए याचिका डाल दी थी। निचली अदालत से जब पिंटू को जमानत हो गयी तो उसकी तरफ से हाईकोर्ट में जमानत के लिए दायर याचिका को वापसी के लिए अर्जी दी गयी। इस पर हाईकोर्ट में सुनवाई कर रहे न्यायमूर्ति राजीव रंजन ने हाईकोर्ट में सुनवाई के पहले ही निचली अदालत द्वारा जमानत देने पर सवाल खड़ा कर दिया और संबंधित मुकदमे के रिकार्ड को तलब कर लिया। जब यह आदेश एडीजे अतुलवीर सिंह के कोर्ट में पहुंचा तो वे अचंभित हो गये और उन्होंने 23 अगस्त 2021 को इस जमानत अर्जी से जुड़े एपीपी कृत्या नन्द प्रसाद और आरोपित की तरफ से अदालत में दाखिल अर्जी पर बहस करने वाले अधिवक्ता के खिलाफ शोकाज कर दिया था। फिर उन्होंने इस मामले की सुनवाई करते हुए पिंटू को दी गयी जमानत याचिका को रद्द कर दिया और उसे सात दिन के अंदर कोर्ट में सरेंडर करने का आदेश जारी किया।

संबंधित खबरें