ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News बिहार भागलपुरकहलगांव में नल-जल योजना की बदतर स्थिति का छाया रहा मुद्दा

कहलगांव में नल-जल योजना की बदतर स्थिति का छाया रहा मुद्दा

कहलगांव, निज प्रतिनिधि। कहलगांव प्रखंड के ट्रायसम भवन आयोजित प्रखंड पंचायत समिति की बैठक में नल-जल योजना...

कहलगांव में नल-जल योजना की बदतर स्थिति का छाया रहा मुद्दा
हिन्दुस्तान टीम,भागलपुरWed, 21 Feb 2024 02:15 AM
ऐप पर पढ़ें

कहलगांव, निज प्रतिनिधि। कहलगांव प्रखंड के ट्रायसम भवन आयोजित प्रखंड पंचायत समिति की बैठक में नल-जल योजना की बदतर स्थिति का मुद्दा छाया रहा। बैठक की अध्यक्षता प्रखंड प्रमुख नूतन देवी ने व संचालन प्रखंड विकास पदाधिकारी रवि सिन्हा ने किया।
बैठक में उपप्रमुख चांदनी देवी, मनरेगा के परियोजना पदाधिकारी, कल्याण पदाधिकारी, पीएचईडी के सहायक अभियंता, विद्युत विभाग के कनीय अभियंता, आपूर्ति पदाधिकारी, डीपीआरओ, स्वास्थ्य विभाग की ओर से अनुमंडल अस्पताल के प्रबंधक, एनटीपीसी के प्रतिनिधि व अन्य अधिकारी मौजूद थे। प्रमुख व उपप्रमुख पर आई अविश्वास प्रस्ताव निरस्त होने के बाद पंचायत समिति की यह पहली बैठक थी। बैठक में मुखिया की उपस्थिति बहुत कम थी।

बैठक में सदस्यों ने एनटीपीसी से सड़क, नाला, हाईमास्ट लाइट लगाने की बात कही। पंचायत समिति सदस्य हिमांशु कुमार सिन्हा ने भदेश्वर स्थान का सौंदर्यीकरण करने, हाईमास्ट लाइट लगाने, शौचालय आदि का निर्माण एनटीपीसी से कराए जाने की मांग की। बीडीओ ने एनटीपीसी के प्रतिनिधि से 10 मार्च के पहले जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक करने की बात कही। बैठक में मनरेगा को लूट की योजना बताते हुए जांच की मांग की गई। वहीं जन वितरण प्रणाली दुकानदारों द्वारा राशन काम देने का मुद्दा उठा। वंशीपुर पंचायत के सदस्य ने वार्ड नंबर तीन में बोरिंग रहने के बाद भी पाइप नहीं बिछाने की बात कही। भोलसर पंचायत के वार्ड नंबर तीन,वार्ड नंबर पांच में पानी की आपूर्ति नहीं होने, ओगरी के वार्ड नंबर चार में सड़क पर पानी बहने, वार्ड नंबर 11, 12, 13 में आधा मुहल्ले में ही पानी पहुंचने, ओरंगाबाद में बोरिंग से टंकी में पाइप नहीं जोड़ने व अन्य जगहों के संकट को बताया। सहायक अभियंता ने जल्द ही समाधान हो जाने का आश्वासन दिया। बैठक में स्कूलों में एनजीओ से घटिया मध्याह्न भोजन आपूर्ति करने की बात कही। इस पर डीपीएम ने जांच कराने की बात कही। सिंया पंचायत के मुखिया ने जीविका, स्वयं सहायता समूह में नाजायज वसूली का आरोप लगाया। जीविका के अधिकारी ने जांच कराने की बात कही। उन्होंने हर पंचायत में जीविका भवन निर्माण कराए जाने की बात कही। स्वास्थ्य उपकेंद्र की बदतर स्थिति का भी मुद्दा उठाया। 

 

यह हिन्दुस्तान अखबार की ऑटेमेटेड न्यूज फीड है, इसे लाइव हिन्दुस्तान की टीम ने संपादित नहीं किया है।
हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें