Students are also learning to speak and write in smart class - स्कूली बच्चे बोलने और लिखने का सीख रहे तरीका--शब्द 352, समय 6.12 बजे DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

स्कूली बच्चे बोलने और लिखने का सीख रहे तरीका--शब्द 352, समय 6.12 बजे

default image

सीबीएसई के स्कूलों में छात्रों को शुद्ध बोलने और लिखने की शैली भी बतायी जा रही है। नये सत्र से कई स्कूलों में इसकी शुरुआत हो चुकी है। स्मार्ट क्लास में शिक्षक छात्रों को इसकी जानकारी दे रहे हैं। शिक्षकों की निगरानी में बच्चों की टेस्ट ली जा रही है। टेस्ट रिपोर्ट के आधार पर आंतरिक परीक्षा के मूल्यांकन में छात्रों को अंक भी मिलते हैं।

सीबीएसई के सिटी कॉर्डिनेटर केके सिन्हा ने बताया कि इसे लेकर अप्रैल में नोटिफिकेशन जारी किया गया था। सभी स्कूलों को इसे सख्ती से लागू करने कहा गया था। कक्षा में छात्रों का ग्रुप बनाकर उन्हें विषय दिया जाता है। फिर उस विषय पर जब छात्र बोलते हैं तो स्पीच रिकॉर्ड की जाती है। फिर उस रिकॉर्डिंग को सुनकर गलती को सुधारा जाता है। वहीं नोटबुक मूल्यांकन के तहत होमवर्क और क्लासवर्क के दौरान छात्रों के लिखने की क्षमता को विकसित किया जाता है।

बढ़ायी जा रही है सुनने की क्षमता

पूर्व सिटी कॉर्डिनेटर चंद्रचूड़ झा ने बताया कि सीबीएसई छात्रों के व्यक्तित्व के विकास पर जोर दे रहा है। इसके लिए तकनीक का भी इस्तेमाल हो रहा है। उन्होंने कहा कि किताब पढ़ने व सुंदर लिखने की आदत से लेकर सुनने की क्षमता भी विकसित की जा रही है। इसके लिए एक छात्र कहानी बताते हैं, दूसरा उसे सुनता है। फिर उस कहानी से सवाल पूछे जाते हैं। जो जितना बेहतर सुना होगा, वह बेहतर जवाब देता है। आठवीं की छात्र स्वाति प्रिया ने बताया कि विषय को खुद से पढ़ने के लिए कहा जाता है। इससे काफी सवालों के जवाब मिल जाते हैं। इससे विषय को समझने का मौका मिलता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Students are also learning to speak and write in smart class