stallined public life in Furious demonstrations of Central trade unions and federations on second day at bhagalpur - PHOTO: केंद्रीय ट्रेड यूनियनों और फेडरेशनों का दूसरे दिन उग्र प्रदर्शन, जनजीवन ठप DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

PHOTO: केंद्रीय ट्रेड यूनियनों और फेडरेशनों का दूसरे दिन उग्र प्रदर्शन, जनजीवन ठप

stallined public life in Furious demonstrations of Central trade unions and federations on second da

1 / 5केन्द्र व राज्य सरकार की नीतियों के खिलाफ केंद्रीय ट्रेड यूनियनों व फेडरेशनों के सदस्यों ने बुधवार को लगातार दूसरे दिन उग्र प्रदर्शन किया।

stallined public life in Furious demonstrations of Central trade unions and federations on second da

2 / 5आंगनबाड़ी व वामदलों की महिला प्रदर्शनकारी ज्यादा उग्र दिखीं। कुछ लोगों की पिटाई भी की।

stallined public life in Furious demonstrations of Central trade unions and federations on second da

3 / 5स्टेशन चौक को जाम कर दिया। गाड़ियां रोकी गईं। पैदल आने-जाने वालों को भी रोका गया। प्रदर्शनकारी महिलाओं ने की हाथापाई, मूकदर्शक बनी रही पुलिस

stallined public life in Furious demonstrations of Central trade unions and federations on second da

4 / 5प्रदर्शन में एक्टू, एटक, सीटू, एआईयूटीयूसी व सेवा के शामिल कार्यकर्ताओं ने 12 सूत्री मांगों की पूर्ति के लिए सुबह से ही आम जनजीवन को ठप कर दिया।

stallined public life in Furious demonstrations of Central trade unions and federations on second da

5 / 5प्रदर्शनकारी पहले स्टेशन चौक पर जमा हुए और उधर से आने-जाने वालों को रोकने लगे। स्टेशन चौक पर एनएच- 80 को जाम कर दिया।

PreviousNext

केन्द्र व राज्य सरकार की नीतियों के खिलाफ केंद्रीय ट्रेड यूनियनों व फेडरेशनों के सदस्यों ने बुधवार को लगातार दूसरे दिन उग्र प्रदर्शन किया। स्टेशन चौक को जाम कर दिया। गाड़ियां रोकी गईं। पैदल आने-जाने वालों को भी रोका गया। आंगनबाड़ी व वामदलों की महिला प्रदर्शनकारी ज्यादा उग्र दिखीं। कुछ लोगों की पिटाई भी की।
 
प्रदर्शन में एक्टू, एटक, सीटू, एआईयूटीयूसी व सेवा के शामिल कार्यकर्ताओं ने 12 सूत्री मांगों की पूर्ति के लिए सुबह से ही आम जनजीवन को ठप कर दिया। ये लोग सरकारों पर मजदूर विरोधी नीतियों का आरोप लगा रहे थे। प्रदर्शनकारी पहले स्टेशन चौक पर जमा हुए और उधर से आने-जाने वालों को रोकने लगे। शहर के सभी प्रमुख मार्गों पर अपनी मांगों के समर्थन में व सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ जुलूस निकालते हुए प्रदर्शन किया। स्टेशन चौक पर एनएच- 80 को जाम कर दिया। स्टेशन पर उतरने वाले यात्रियों को भारी परेशानी हुई। लोग रास्ता बदलकर जाने को मजबूर हुए। 

प्रदर्शनकारी महिलाओं ने की हाथापाई, मूकदर्शक बनी रही पुलिस
स्टेशन आने-जाने वाले लोगों ने आरोप लगाया कि प्रदर्शनकारियों ने उन्हें काफी परेशान किया। कई लोगों से प्रदर्शनकारी महिलाओं ने हाथापाई की। कुछ को तो थप्पड़ भी जड़ दिए। इस दौरान पुलिस मूकदर्शक बनी रही। 

प्रदर्शनकारियों ने बंद कराए दुकान
स्टेशन पर हंगामा मचाने के बाद प्रदर्शनकारी बाजार पहुंचे और दुकानों को बंद करवाने लगे। प्रदर्शनकारियों ने बैंकों को भी बंद करा दिया। इससे

बैंकों का कारोबार प्रभावित हुआ।
उल्टा पुल, डिक्शन मोड़ व पटल बाबू रोड पर भी प्रदर्शन किया और ऑटो सहित अन्य गाड़ियों को आने-जाने से रोका। हालांकि गाड़ियों को नुकसान नहीं पहुंचा। इसमें जिला वाहन चालक यूनियन (सीटू) के लोग भी शामिल थे।

वामदलों का रहा समर्थन
ट्रेड यूनियनों के हड़ताल में वामदल भी शामिल हुए। इसमें भाकपा-माले के राज्य कमेटी सदस्य एसके शर्मा, भाकपा के पूर्व जिला सचिव सुदामा प्रसाद सिंह, माकपा के जिला सचिव दशरथ प्रसाद व एसयूआईसी-सी के जिला प्रभारी दीपक कुमार मंडल के संयुक्त नेतृत्व में वामदलों का विशाल जुलूस स्टेशन चौक से निकाला गया। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:stallined public life in Furious demonstrations of Central trade unions and federations on second day at bhagalpur