son of bhagalpur again shaheed in encounter with terrorist at jammu and kashmir - जम्‍मू-कश्‍मीर आतंकी मुठभेड़ में भागलपुर का लाल और कमांडो नि‍लेश शहीद DA Image
12 दिसंबर, 2019|2:07|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जम्‍मू-कश्‍मीर आतंकी मुठभेड़ में भागलपुर का लाल और कमांडो नि‍लेश शहीद

file photo of son of bhagalpur and garud cammando shaheed nilesh

1 / 4भागलपुर का बेटा और गरुड़ कमांडो शहीद निलेश का फाइल फोटो।

mother of garud commando shaheed nilesh at bhagalpur

2 / 4इंडियन एयरफोर्स में गरुड़ डिवीजन के कमांडो शहीद निलेश कुमार नयन की शोक में डूबी मां।

mother of shaheed garud commando nilesh at bhagalpur in  moun

3 / 4इंडियन एयरफोर्स में गरुड़ डिवीजन के कमांडो शहीद निलेश कुमार नयन की शोक में डूबी मां।

home of shaheed garud commando nilesh in sultanganj at bhagalpur

4 / 4गांव के बेटे के शहीद होने की खबर सुनकर शहीद के घर के बाहर जुटने लगे लोग।

PreviousNext

जम्‍मू-कश्‍मीर के बांदीपोरा मुठभेड़ में भागलपुर जिले के सुल्‍तानगंज के उधाडीह गांव के रहने वाले जवान निलेश कुमार नयन शहीद हो गए। वे 31 साल के थे। इंडियन एयरफोर्स में गरुड़ डिवीजन के कमांडो के रूप में मूलरूप से चंडीगढ़ में पदस्थापित थे।

बीते 3 तीन माह पहले जवानों को कमांडों ट्रेनिंग देने के लिए जम्मू-कश्मीर गए थे। बुधवार को दस बजे दिन में उनके पिता तरुण कुमार सिंह को चंडीगढ़ से सेना के कैप्टन का फोन आया कि उनके बेटे जम्मू-कश्मीर में हुए मुठभेड़ में शहीद हो गए हैं। सूचना मिलते ही उनके घर में कोहराम मच गया। गांव के लोग उनके घर पहुंचने लगे। 

निलेश की पत्नी मिनिषा नयन और 14 साल की बेटी हिमांशी नयन चंडीगढ़ में ही रहती हैं। उनकी शादी 2016 में छत्तीसगढ़ में हुई थी। वे वर्ष 2005 में सेना में भर्ती हुए थे। पांच महीने पहले वे गांव आए थे। उनके पिता ने रो-रोकर बताया कि 9 अक्टूबर की रात में निलेश का फोन मां के पास आया था। उसने कहा था कि मां जनवरी के बाद आकर आपलोगों को चंडीगढ़ ले आऊंगा।

निलेश का छोटा भाई रितेश नयन भी सेना में है। वह राजस्थान के आवोहर में तैनात हैं। सुल्तानगंज के प्रखंड विकास पदाधकारी प्रभात रंजन निलेश के घर पहुंचकर उनके परिजनों को संत्वना दी। पिता ने बताया कि गुरुवार तक शहीद का पार्थिव शहीद घर पर पहुंचने की उम्‍मीद है। बता दें कि कुछ दिन पहले भागलपुर जिले के ही पीरपैंती के कमलचक गांव के रहने वाले सेना के एएसआई ब्रजकिशोर यादव भी आतंकी हमले में शहीद हुए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:son of bhagalpur again shaheed in encounter with terrorist at jammu and kashmir