DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अर्द्धसैनिक बलों की बहाली में फर्जीवाड़ा करने के आरोप में अब तक 16 गिरफ्तार

23 arrest on mob lynching

भागलपुर के कहलगांव में एनटीपीसी में सीआईएसएफ (केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल) की ओर से अर्द्धसैनिक बलों में बहाली के लिए चल रही शारीरिक परीक्षा के दौरान फर्जीवाड़े के आरोप में 16 अभ्यर्थियों को पकड़ा गया। सीआईएसएफ ने सभी को पकड़कर पुलिस के हवाले किया। सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।

अभ्यर्थियों का फोटो और फिंगर प्रिंट में मिलान नहीं हुआ
बायोमेट्रिक जांच के क्रम में शुक्रवार को छह और शनिवार को 10 अभ्यर्थियों को फोटो और फिंगर प्रिंट में मिलान नहीं होने के कारण पकड़ा गया। सभी पकड़ाये सही अभ्यर्थी हैं जो फिजिकल टेस्ट देने आये थे। घटना को लेकर सीआईएसएफ यूनिट कहलगांव के भर्ती केंद्र के बोर्ड मेंबर सह सहायक समादेष्टा ज्ञान सिंह भाटी ने एनटीपीसी थाना में शनिवार को नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई। आईटीबीपी, सीआईएसएफ, एसएसबी, बीएसएफ, सीआरपीएफ और आसाम राइफल्स के जीडी आरक्षक एवं अन्य बलों के लिये बहाली की प्रकिया चल रही है। वहीं पिछले 14 अगस्त को नौ अभ्यर्थियों को पकड़ा गया था।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, पूर्व में हुई लिखित परीक्षा में फर्जी लोगों ने परीक्षा दी थी जिसके एडमिट कार्ड पर फर्जी लोगों की फोटो चिपके थे तथा उनलोगों का ही फिंगर प्रिंट बायोमेट्रिक से लिया गया था। फिजिकल टेस्ट देने जब सही अभ्यर्थी आये तो ना तो फोटो का मिलान हुआ और ना ही फिंगर प्रिंट सही पाया गया। ऐसे में सभी को गिरफ्तार कर लिया गया।

अलग-अलग जिलों के ये अभ्यर्थी गिरफ्तार
शुक्रवार को पकड़ाये अभ्यर्थियों में जमुई जिले के गिद्धौर थाना क्षेत्र के बिट्टू कुमार, समस्तीपुर के बिट्टू कुमार ठाकुर, शेखपुरा के गौतम कुमार, धर्मेन्द्र कुमार तिवारी, बांका के सोनू कुमार, लखीसराय के श्रवण कुमार तथा शनिवार को समस्तीपुर का रोहित कुमार, कटिहार के पिंटर मुखिया, लखीसराय के संजीव कुमार, भागलपुर के रंगरा चौक के अखिलेश कुमार, कहलगांव के अंतीचक थाना क्षेत्र के परशुरामचक गांव के जीके अभिनव, परबत्ता थाना क्षेत्र के गुलशन कुमार, बांका के रजौन के बिट्टू कुमार, बेलहर के गौरव कुमार, शेखपुरा के सूरज कुमार तथा पश्चिम बंगाल, पुरुलिया के बिनोद कुमार यादव शामिल हैं।
 
50 हजार से एक लाख तक में लिखित परीक्षा का सौदा   
मालूम हो कि लिखित परीक्षा देने के लिये मुन्ना भाई का गिरोह सक्रिय है जो 50 हजार से एक लाख रुपये में सौदा करता है। इस फर्जीवाड़े में बड़ा गिरोह सक्रिय है जो मोटी रकम लेकर लिखित परीक्षा पास कराने की गारंटी लेता है। इसकी लिखित परीक्षा मोकामा में हुई थी। हालांकि इस संदर्भ में पुलिस को अबतक कुछ भी सुराग हाथ नहीं लग पाया है लेकिन पुलिस गिरोह का पता करने में जुटी है। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:sixteen candidates arrested for allegation of forgery in reinstatement of paramilitary forces