DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शर्मनाक! तेल के लिए गंगा के बाद अब कोसी में मारी जा रहीं संरक्षित डॉल्फिनें

shameful  hunting of protected dolphins going out in kosi river after ganga for oil

तेल के लिए गंगा के बाद अब कोसी नदी में भी गांगेय डॉल्फिन (सोंस) का शिकार किया जा रहा है। राष्ट्रीय जलीय जीव के रूप में गांगेय डॉल्फिन को वन (संरक्षण) अधिनियम 1972 के अंतर्गत अनुसूची-1 का संरक्षित प्राणी माना गया है।

इसका शिकार करने पर 3 से 7 साल की सजा और दस हजार रुपये जुर्माना का प्रावधान है। बावजूद इसके इन दिनों बड़े पैमाने पर कोसी नदी में डॉल्फिन का शिकार कर मछुआरे उसका तेल निकाल रहे हैं। हैरत की बात है कि आखों के सामने डॉल्फिन से तेल निकालते देखे जाने के बावजूद प्रशासन और वन विभाग कोई कार्रवाई नहीं करता दिख रहा है।

बुधवार को सदर प्रखंड की बलवा पंचायत के पिपरा में मारी गई दो डॉल्फिन में से एक से तेल निकाला जा रहा था। इसमें एक व्यस्क और दूसरी किशोर डॉल्फिन थी। बाढ़ प्रभावित इलाकों का जायजा लेने उधर निकले डीएम महेन्द्र कुमार और एसपी मृत्युंजय चौधरी ने बाद में दोनों डॉल्फिनों को नदी में फेंकवाया। हालांकि, पास बैठे दो मछुआरों से सिर्फ पूछताछ की गई। टीम के साथ शामिल एक महिला स्वास्थ्यकर्मी ने बताया कि एक दिन पहले वहां एक मारी हुई डॉल्फिन देखी गई थी।
 
डॉल्फिन अभ्यारण्य घोषित करने के प्रस्ताव को झटका
सुपौल में और सहरसा में सर्वे के बाद कोसी में डॉल्फिनों की सही-सही संख्या और उनके विकास और संरक्षण के लिए वन विभाग ने सीजन में कम से कम दो बार और लगातार तीन साल सर्वे कराने का प्रस्ताव राज्य सरकार को भेजा था। सर्वे रिपोर्ट के बाद कोसी को डॉल्फिन अभ्यारण्य घोषित करने का प्रस्ताव भी भेजने की तैयारी वन विभाग कर रहा है, लेकिन डॉल्फिन के बड़े पैमाने पर हो रहे शिकार से इस अभियान को झटका लग सकता है।

2018 में हुआ था सर्वे
तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय के डॉ. सुनील कुमार चौधरी के नेतृत्व में पांच सदस्यीय टीम ने 2018 में सुपौल के सहरसा के हाटी घाट से इंडो-नेपाल बॉर्डर के 0 किमी तक सर्वे किया था। 87 किलोमीटर दूरी के सर्वे में कुल 60 डॉल्फिन कोसी में पाये गये। इनमें 21 युवा डॉल्फिन, 35 किशोर अवस्था के डॉल्फिन और 4 शिशु डॉल्फिन पाये गये। 

सुपौल के डीएफओ सुनील कुमार शरण ने बताया कि डॉल्फिन का शिकार किए जाने की अभी तक कोई सूचना नहीं मिली है। अगर ऐसा हो रहा है तो वन विभाग जांच कर कार्रवाई करेगा। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Shameful: hunting of Protected dolphins going out in Kosi river after ganga for oil