रेलवे की साइट पर ट्रेन परिचालन का समय डालने में गड़बड़झाला, यात्री परेशान

Last Modified: Thu, Oct 10 2019. 18:00 IST
offline

रेलवे की ऑनलाइन साइट पर ट्रेन परिचालन समय डालने में गड़बड़झाला किया जा रहा है। अधिक विलंब से पहुंचती ट्रेन को कम लेट से सहरसा स्टेशन पर पहुंचना बताने के लिए इस तरह की गड़बड़ी की जा रही है।

ट्रेन के लेट होने के समय को कम दिखाने के चक्कर में किए जा रहे गड़बड़झाला से एनटीईएस ( नेशनल ट्रेन इंक्वायरी सिस्टम) की विश्वसनीयता पर सवाल खड़ा होने लगा है। एनटीईएस पर मिली गलत जानकारी पर स्टेशन पहुंचे यात्री भटकते परेशान नजर आते हैं। ट्रेन आने के इंतजार में उन्हें काफी समय प्लेटफार्म पर गुजारना पड़ रहा है। 

ताजा उदाहरण मंगलवार की रात का है। मंगलवार को एनटीईएस पर पुरबिया एक्सप्रेस का मात्र 15 मिनट विलंब से शाम 7.15 बजे सहरसा स्टेशन आगमन दिखाया गया। जबकि आनंद विहार से आने वाली लंबी दूरी की यह ट्रेन दो घंटे एक मिनट की देरी से रात 9.01 बजे पहुंची। इसी तरह नई दिल्ली से एक घंटा 37 मिनट विलंब से सहरसा स्टेशन पहुंचने वाली वैशाली एक्सप्रेस को भी निर्धारित समय से मात्र 15 मिनट देर से आगमन बताया गया। 

एनटीईएस से इतर एक अन्य साइट व्हेयर इन माय ट्रेन पर पुरबिया एक्सप्रेस के आगमन की जानकारी देते बताया गया कि परमिनिया हाल्ट पर 8.01 और सहरसा स्टेशन पर 9.01 बजे यह ट्रेन आई। सहरसा स्टेशन के प्लेटफार्म एक से रिश्तेदार को लाने गए मधेपुरा के संजीव कुमार, सहरसा के राकेश कुमार सहित अन्य ने कहा कि यह एक दिन की बात नहीं है। अक्सर अपनी कमी को छिपाने के लिए एनटीईएस के साथ छेड़छाड़ किया जा रहा है। रेल प्रशासन को इसकी जांच करते कार्रवाई करते ट्रेन परिचालन व्यवस्था में सुधार लानी चाहिए।

मानसी से सहरसा के बीच ट्रेन परिचालन व्यवस्था चरमराई
ऐसा लगता मानसी से सहरसा के बीच ट्रेन परिचालन व्यवस्था चरमरा गई हो। दिल्ली, यूपी से लेकर बिहार के अन्य हिस्से से राइट टाइम आने वाली ट्रेनों की रफ्तार में मानसी के बाद ब्रेक लग जाता है। बिना ठहराव वाले स्टेशन से लेकर हॉल्ट और आउटर पर आधा से एक घंटा तक ट्रेन रोककर विलंब कराई जाती है। मंगलवार को पुरबिया एक्सप्रेस को पहले सिमरी बख्तियारपुर फिर वाशिंग पिट पास आउटर पर करीब 50 मिनट रोक दिया गया। करीब घंटे भर वैशाली एक्सप्रेस को सिमरी बख्तियारपुर स्टेशन पर रोका गया। बुधवार को मानसी से करीब 12.20 बजे चली इंटरसिटी एक्सप्रेस 2.48 बजे तल सोनवर्षा कचहरी स्टेशन पर ही रोके रखी गई। यात्रियों ने कहा कि लगभग हर ट्रेनें इस रेलखंड पर रोक रोककर लेट कराई जाती है। मानसी से आ रही यात्री पूनम देवी ने कहा कि सहरसा स्टेशन पर पांच प्लेटफार्म होने के बाद भी ट्रेनों की परिचालन व्यवस्था में सुधार नहीं हो रहा है। सफर में रोज हम जैसे यात्रियों को फजीहत झेलनी पड़ रही है। 

हिन्दुस्तान मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें