DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सबौर ग्रिड लड़खड़ाया, छह घंटे बत्ती गुल

उमस भरी गर्मी में गुरुवार को भी बिजली संकट ने करीब एक लाख की आबादी को परेशान किया। सबौर ग्रिड में गड़बड़ी आने से बीजीपी-1 से गुरुवार को छह घंटे बिजली आपूर्ति बंद रही। दोपहर एक बजे सीपीटी में आई खराबी के कारण बंद हुई आपूर्ति शाम सात बजे बहाल हो सकी। इससे जगदीशपुर, कोतवाली, नाथनगर, मोजाहिदपुर सब स्टेशन से जुड़े इलाके के लोग परेशान रहे। बिजली संकट के कारण नाथनगर, जगदीशपुर और दक्षिणी क्षेत्र के लोगों को पानी की समस्या भी झेलनी पड़ी। वहीं, शहर के अन्य हिस्सों में भी ट्रिपिंग का खेल चलता रहा। सबौर सब स्टेशन से जुड़े इलाके में बिजली संकट के समाधान में अभी दो-तीन और समय लगेगा। सब स्टेशन में पांच एमवीए का ट्रासंफार्मर लगा दिया गया है, लेकिन चार्ज होने से लेकर आपूर्ति शुरू करने तक में समय लगेगा। उधर, रोटेशन पर बिजली मिलने से आजिज करीब 30 लोग गुरुवार को फिर सबौर सब स्टेशन पहुंचे और पूरी आपूर्ति देने की मांग की। बिजली संकट से सात उद्योगों का काम ठप बरारी स्थित वृहत औद्योगिक क्षेत्र में 29 मई को 200 केवी का ट्रांसफार्मर जलने से सात उद्योगों में काम ठप हो चुका है। इससे 100 से ज्यादा मजदूरों के सामने रोजगार का संकट पैदा हो गया है। निजी बिजली कंपनी की ओर से ट्रांसफार्मर बदलने के लिए 10 दिन का समय मांगा गया है। सुबह आठ से रात आठ तक जमा कराएं बिल गर्मी के कारण लोगों की सुविधा के लिए बिजली कंपनी ने बिल जमा करने के समय में परिवर्तन किया है। अब सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक बिल कलेक्शन सेंटर सहित खरमनचक स्थित कार्यालय में बिल काउंटर खुला रहेगा। यह जानकारी कंपनी के सीईओ कुलदीप कौल ने दी। कोट सबौर ग्रिड में खराबी के कारण कुछ घंटे सप्लाई बंद रही। अन्य इलाकों में ओवरलोडिंग के कारण ट्रिपिंग की समस्या आई। स्टॉक खत्म होने के कारण गाजियाबाद से ट्रांसफार्मर मंगाए जा रहे हैं। साथ ही पुराने की रिपेयरिंग कर समस्या के समाधान का प्रयास किया जा रहा है। - कुलदीप कौल, सीईओ, बिजली कंपनी

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:sabour gride got fault, six hour power supply failed