DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस की लापरवाही से भागलपुर का कुख्यात अपराधी इमरान मियां थाने की हाजत से फरार 

notorious criminal imran mian escaped from habibpur police station due to police negligence in bhaga

भागलपुर किराना दुकानदार के अपहरण के आरोप में गिरफ्तार कुख्यात इमरान मियां उर्फ मुर्गा हबीबपुर थाने की हाजत से फरार हो गया। उस पर शनिवार शाम चंपानगर में विषहरी मेला देखने जा रहे करोड़ी बाजार के दुकानदार नीरज चौधरी उर्फ कैलू और उसके ममेरा भाई को अगवा करने का आरोप है। वह एक लाख रुपये रंगदारी मांग रहा था। पुलिस ने देर रात ही अपहृत को बरामद कर इमरान समेत तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया था।
 
किराना दुकानदार ने कहा कि मो. इमरान ने पूर्व में भी मकान बनाने के एवज में रंगदारी मांगी थी और अपहरण का प्रयास भी किया था। उस समय पुलिस को सूचना नहीं दी थी। शनिवार शाम करीब 7.30 बजे ममेरे भाई पैरू चौधरी के साथ विषहरी मेला देखने चंपानगर जा रहा था। हबीबपुर थाने के पनसल्ला चौक के पास मो. इमरान, मो. विक्की और मो. भोलू समेत पांच लोगों ने हथियार के बल पर कब्जे में ले लिया और एक तीन मंजिले मकान पर ले जाकर मारपीट की। कहा एक लाख रुपए रंगदारी दो नहीं तो दोनों को गोली मार दी जाएगी। 

इमरान ने ममेरे भाई को कब्जे में रखकर अपने आदमी के साथ रुपये लाने के लिए घर भेजा। लेकिन घर में 12 हजार रुपये ही थे। वह रुपये इमरान को देने पर फेंक दिया और जान मारने की नीयत से फायरिंग कर दी। इसी बीच घर के लोग भी पहुंच गए और इमरान से छोड़ देने के लिए कहा गया।

आरोपी ने धमकी दी कि पुलिस को सूचना देने पर पूरे परिवार को गोली मार दी जायेगी। इसी बीच हबीबपुर पुलिस को घटना की सूचना मिली और इमरान के ठिकाने पर छापेमारी कर दी। पुलिस को देखकर सभी बदमाश भाग गए। पुलिस ने इमरान के पिता मो. वशीउद्दीन को पकड़कर थाने ले आई। रविवार सुबह एएसआई अजय कुमार यादव ने मो. इमरान और मो. भोलू को भी गिरफ्तार कर लिया।

इस दौरान दाउदचक से इमरान के परिवार वाले थाने पर पहुंच गए। थाने के मुंशी ने हाजत में ताला नहीं लगाया था। यह देख महिलाओं ने हाजत का दरवाजा खोल दिया। मौका मिलते ही इमरान हाजत से भाग निकला। इंस्पेक्टर मो. जनीफउद्दीन ने कहा कि मुंशी की लापरवाही से इमरान भाग गया है। घटना को लेकर दो अलग-अलग रिपोर्ट दर्ज की गई है। पुलिस फरार इमरान मियां की खोज कर रही है। 

दुकानदार की बाइक इमरान के घर से बरामद
इंस्पेक्टर ने कहा कि अपहृत किराना दुकानदार की बाइक और कागज इमरान के घर से बरामद किया गया है। इमरान ने बाइक के कागज मंगवाकर लिखने के लिए दबाव दिया था। उसके पिता को अपहरण मामले में ही गिरफ्तार किया गया है। घटना में शामिल सभी बदमाशों की पहचान कर उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। 

लूट व बमबारी मामले में पुलिस को थी तलाश
कुख्यात इमरान मियां पर छह से अधिक आपराधिक केस दर्ज हैं। 14 जुलाई को स्वास्थ्यकर्मी उपेंद्र तांती से बाइक, मोबाइल और रुपये लूट लिये थे। इसके पहले बबरगंज थाने के मुगलपुरा मोहल्ले में बमबारी की थी। पुलिस इमरान की गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही थी। पांच साल से वह सक्रिय अपराध में शामिल है। रजौन, जगदीशपुर, हबीबपुर, तातारपुर और मोजाहिदपुर थाने में उसके खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज है। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:notorious criminal Imran Mian escaped from habibpur police station due to police negligence in Bhagalpur