DA Image
हिंदी न्यूज़ › बिहार › भागलपुर › व्यवसायी के घर डकैती में नौकरानी और उसके पति को जेल
भागलपुर

व्यवसायी के घर डकैती में नौकरानी और उसके पति को जेल

हिन्दुस्तान टीम,भागलपुरPublished By: Newswrap
Wed, 01 Sep 2021 05:20 AM
व्यवसायी के घर डकैती में नौकरानी और उसके पति को जेल

भागलपुर, वरीय संवाददाता

कपड़ा व्यवसायी शंभू टिबरेवाल के घर हुई डकैती मामले में उनके घर की पूर्व नौकरानी नीशू और उसके पति दुलार महतो को पुलिस ने मंगलवार को जेल भेज दिया। जेल भेजे जाने से पहले पुलिस को दुलार ने बयान दिया है। उसने अपनी स्वीकारोक्ति बयान में कहा है कि उसके मित्र श्रवण दास उर्फ हीरा ने ही सनोज से मिलवाया था। श्रवण इस कांड में नया नाम है। वह खंजरपुर का रहने वाला है। दुलार का कहना है कि सनोज और दीपक दास के साथ जाकर उसने व्यवसायी शंभू का घर दिखाया था। इसके बाद डकैती की घटना हुई।

घटना के बाद दुलार को मिले 20 हजार

दुलार ने अपनी स्वीकारोक्ति बयान में कहा है कि डकैती की घटना के बाद सनोज ने उसे बताया कि घटना हो गई है। घटना के अगले दिन सनोज यादव, श्रवण दास और दीपक दास उसके घर आये और बताया कि डकैती में काफी मात्रा में आभूषण और पैसे मिले हैं। दुलार को उन लोगों ने 20 हजार रुपये दिये। सनोज और उसके साथियों ने दुलार से कहा कि डकैती में लूटे गये आभूषण को बेचने के बाद और पैसे उसे देगा। दुलार ने पुलिस को बताया है कि नीशू उसकी दूसरी पत्नी है। पहली पत्नी से उसे दो बच्चे हैं। दुलार ने यह भी बताया है कि हत्याकांड में वह अपनी दूसरी पत्नी के साथ बांका जेल जा चुका है और एक बार भागलपुर जेल भी गया है।

पत्नी को काम से निकाला था, बदला लेने की बात श्रवण ने कही थी

दुलार ने अपने बयान में पुलिस को बताया है कि व्यवसायी के घर में उसकी पत्नी नीशू काम करती थी। उसने बताया है कि उसकी पत्नी को व्यवसायी ने काम से हटा दिया और एक महीने काम करने के बाद भी पैसे नहीं दिये। उसका कहना है कि श्रवण उसके घर आया तो उसने और उसकी पत्नी ने उसको व्यवसायी के घर से काम से हटाने और पैसे नहीं देने की बात कही तो श्रवण ने कहा कि व्यवसायी के घर डकैती की जायेगी, जिससे नीशू के अपमान का बदला भी ले लिया जायेगा और बहुत पैसे भी मिलेंगे। उसकी बातों में आकर दुलार तैयार हो गया।

संबंधित खबरें