madhepura resident Undertrial prisoner escaped from Sadar Hospital in Saharsa to dodging police - सहरसा सदर अस्पताल में भर्ती मधेपुरा निवासी विचाराधीन बंदी पुलिस को चकमा दे फरार DA Image
9 दिसंबर, 2019|10:04|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सहरसा सदर अस्पताल में भर्ती मधेपुरा निवासी विचाराधीन बंदी पुलिस को चकमा दे फरार

prisoner  district  jail

मंडल कारा, सहरसा में बंद विचाराधीन बंदी पुलिस को चकमा देकर सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड से फरार हो गया। मिर्गी का दौरा आने के बाद उसे गुरुवार की दोपहर ही अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बंदी मधेपुरा जिले के गौरीपुर गांव का निवासी मो. शमशाद उर्फ नौशाद है। 

उसे 8 सितंबर को वाद संख्या 1049/19 धारा 109 के तहत अनुमंडल दंडाधिकारी सहरसा के आदेश पर मंडल कारा लाया गया था। बंदी के फरार होने की सूचना मिलते ही खलबली मच गई। रात में ही फरार बंदी को खोजा गया लेकिन उसका कोई पता नहीं चल सका। 

तबीयत बिगड़ने पर उसे दोपहर भर्ती कराया गया था और रात करीब 10 बजे उसने शौचालय जाने की बात कही। बंदी के बिस्तर के समीप ही शौचालय था। बंदी के बगल में बेड पर इलाजरत मरीज के परिजनों ने बताया कि उसने खैनी मांगा। जिसे देने से मैंने इंकार कर दिया। उसके बाद उसने बाथरूम जाने की बात कह कर अंदर गया और बहुत देर तक बाहर नहीं निकला तो उसकी खोजबीन शुरू हुई जिसमें पता चला कि बाथरूम के पिछले हिस्से में खिड़की खुली हुई थी। जिस रास्ते से बंदी फरार हो गया। बंदी के फरार होने के बाद सुरक्षा कर्मियों को होश उड़ गए और आननफानन में उसकी खोजबीन शुरू हुई लेकिन कोई सफलता नहीं मिली।

बंदी के सुरक्षा के लिए तैनात हवलदार बिंदेश्वरी राम, सिपाही महेन्द्र पासवान, ललन कुमार, बलिराम कुमार को तैनात किया गया था। मामले में कारा अधीक्षक सुदर्शन सिंह ने बताया कि इलाज के दौरान फरार बंदी के खिलाफ सदर थाना में प्राथमिकी दर्ज करा दी गयी है। 
 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:madhepura resident Undertrial prisoner escaped from Sadar Hospital in Saharsa to dodging police