अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मैकेनिकल इंजीनियरिंग पर इंजीनियरिंग कॉलेज में व्याख्यान

भागलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज में मंगलवार को इंडियन इंस्टीच्यूट ऑफ इंजीनियरिंग साइंसेस एंड टेक्नोलॉजी शिवपुर पश्चिम बंगाल के प्रोफेसर बिजन कुमार मंडल ने मैकेनिकल इंजीनियरिंग के भविष्य पर अपने व्याख्यान दिये। उन्होंने छात्रों को रोबोटिक्स, काइनेमैटिक्स, रेफ्रीजेरेशन और एयरोस्पेश थर्मल इंजीनियरिंग के बारे में बताया। उन्होंने एयरोस्पेश के बारे में बताया कि पृथ्वी का वायुमंडल और सटे अंतरिक्ष मिलाकर वात अंतरिक्षक कहा जाता है। यह उन उद्योगों के लिए महत्वपूर्ण है जो वायुमंडल से होकर अंतरिक्ष में जानेवाले यान को डिजाइन करते हैं। उन्होंने इसके प्रमुख क्षेत्र के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि थर्मल इंजीनियरिंग में कंप्रेशर, कंडेंसर और इवापोरेटर का काम होता है। थर्मल इंजीनियरिंग की सबसे जरूरी चीज बोलर टेक्नोलॉजी है। इस मौके पर डॉ. निर्मल कुमार, डॉ सीपी सिंह, धीरेंद्र कुमर, मणि कुमार ठाकुर, रितिक, सिंटू, सुधांशु आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Lecture in Engineering College on Mechanical Engineering