DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सीएम से मिलने पर अड़े राजद कार्यकताओं पर लाठीचार्ज के बाद बवाल, तोड़फोड़

lathi charge and rampage after Stubbornness of RJD activists on meeting with Chief Minister at supau

1 / 3बस स्टैंड परिसर में लाठी बरसाती पुलिस

lathi charge and rampage after Stubbornness of RJD activists on meeting with Chief Minister at supau

2 / 3प्रदर्शन के दौरान हंगामा करते छात्र राजद कार्यकर्ता

lathi charge and rampage after Stubbornness of RJD activists on meeting with Chief Minister at supau

3 / 3लोहिया चौक पर बुधवार को हंगामे के बाद पुलिस और लोगों की भीड़

PreviousNext

सुपौल में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलने आए छात्र राजद कार्यकर्ताओं पर पुलिस के बल प्रयोग करने से लोहिया चौक पर अराजक स्थिति पैदा हो गयी। पुलिस की लाठीचार्ज से आक्रोशित छात्र राजद कार्यकर्ताओं ने सहरसा के अतिपिछड़ा सम्मेलन में जा रहे दर्जनों वाहन के शीशे तोड़ डाले। बाद में पुलिस ने उपद्रवियों के साथ-साथ आमलोगों को भी दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। पुलिस ने इस मामले में 20 नामजद और 50 अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया है।

बुधवार सुबह करीब 11 बजे नीतीश कुमार सुपौल से सड़क मार्ग से सहरसा में पार्टी के होने वाले सम्मेलन में भाग लेने जा रहे थे। छात्र राजद कार्यकर्ता दरभंगा में एम्स शिफ्ट किए जाने के मुद्दे को लेकर सीएम से मिलने पर अड़े थे। इसी बीच पुलिस प्रशासन ने कार्यकर्ताओं पर बल प्रयोगकरते हुए सीएम के काफिले को आगे निकाल दिया। उसके बाद राजद कार्यकर्ताओं ने जमकर उत्पात मचाया।

पुलिस की लाठीचार्ज से आक्रोशित छात्र राजद कार्यकर्ताओं ने सहरसा के अतिपिछड़ा सम्मेलन में जा रहे दर्जनों वाहन के शीशे तोड़ डाले। सड़क किनारे लगे होर्डिंग और बैनर-पोस्टर फाड़ दिये। उन्होंने पुलिसकर्मियों को भी खदेड़ दिया। छात्र राजद के उपद्रव से लोहियानगर चौक पर स्थिति बेकाबू हो गयी।
 
बच्चे, बूढ़ों व महिलाओं को भी नहीं बख्शा 
हंगामे को शांत करने के लिए पहुंची पुलिस ने उपद्रवियों के साथ-साथ आमलोगों को भी दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। बच्चे, बूढ़े और महिलाओं को भी नहीं बख्शा। पुलिस कर्मियों ने बस स्टैंड और दुकानों में घुस-घुसकर लोगों को पीटा। इस दौरान कवरेज कर रहे एक मीडियाकर्मी पर भी लाठी भांजी।
 
एक दर्जन लोगों को गंभीर चोटें
पुलिस की लाठीचार्ज और छात्र राजद के हंगामे में लगभग एक दर्जन लोगों को गंभीर चोट लगी है। छात्र राजद के उपद्रव और पुलिस की बर्बरतापूर्ण कार्रवाई से लगभग दो घंटे तक लोहियानगर चौक का माहौल अराजक रहा। दोपहर एक बजे के बाद स्थिति कुछ सामान्य हुई। तब लोग सड़कों पर उतरते नजर आये। 

राजद और जाप कार्यकर्ता दोषी
डीएम बैद्यनाथ यादव और एसपी मृत्युंजय कुमार ने घटना के लिए पूरी तरह से छात्र राजद और जाप कार्यकर्ताओं को दोषी ठहराया है। कहा कि मामले में 20 नामजद और 50 अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:lathi charge and rampage after Stubbornness of RJD activists on meeting with Chief Minister at supaul