Inspected PG Biochemistry Department - जेएलएनएमसीएच : पीजी बॉयोकेमेस्ट्री की पढ़ाई का रास्ता साफ DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जेएलएनएमसीएच : पीजी बॉयोकेमेस्ट्री की पढ़ाई का रास्ता साफ

जेएलएनएमसीएच : पीजी बॉयोकेमेस्ट्री की पढ़ाई का रास्ता साफ

पीजी बायोकेमिस्ट्री में दो सीट की मान्यता संबंधित दावे को परखने के लिए एमसीआई की एकल सदस्यीय टीम सोमवार को जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल पहुंची। निरीक्षण के दौरान चंडीगढ़ मेडिकल कॉलेज से आयी एमसीआई इंस्पेक्टर डॉ. जसविंदर कौर ने बॉयोकेमेस्ट्री विभाग में फैकल्टी की संख्या एमसीआई की मानकों पर खरा पाया तो वहीं पढ़ाई के लिए जगह पर्याप्त नहीं पाया।

इस दौरान कॉलेज के प्राचार्य डॉ. हेमंत कुमार सिन्हा ने डॉ. कौर को आश्वस्त करते कहा कि मंडल कोठी के पास बॉयोकेमेस्ट्री विभाग का नया भवन, सेंट्रल लाइब्रेरी व लेक्चर थिएटर बन रहा है। यह छह माह के अंदर पूरी तरह से बनकर तैयार हो जायेगा। तब जगह की कमी नहीं रहेगी। इसको मान एमसीआई इंस्पेक्टर संतुष्ट हो गयी। हेड काउंट में उन्होंने पाया कि कॉलेज में एक-एक प्रोफेसर व एसोसिएट प्रोफेसर, दो असिस्टेंट प्रोफेसर और तीन ट्यूटर तैनात हैं।

पहले कॉलेज, दोपहर बाद मंडल कोठी, शाम को पहुंचीं अस्पताल: एमसीआई इंस्पेक्टर दिन के 11 बजे कॉलेज के सेमिनार रूम, लेक्चर थिएटर, प्रयोगशाला, पुस्तकालय आदि का निरीक्षण किया। डेढ़ बजे मंडल कोठी स्थित कॉलेज के सेंट्रल लाइब्रेरी, लेक्चर थिएटर व बॉयोकेमेस्ट्री, फिजियोलॉजी व एनॉटॉमी भवन का जायजा लिया। शाम करीब पांच बजे वे मायागंज अस्पताल पहुंचीं। यहां वे अस्पताल अधीक्षक डॉ. आरसी मंडल, बॉयोकेमेस्ट्री विभाग के अध्यक्ष डॉ. यूएस चौधरी के साथ ब्लड बैंक, क्लीनिकल पैथोलॉजी गईं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: Inspected PG Biochemistry Department