DA Image
24 फरवरी, 2021|4:57|IST

अगली स्टोरी

पेट्रोल-डीजल की कीमत बढ़ने से खाद्य से लेकर निर्माण सामग्री तक महंगी

default image

कटिहार | हिन्दुस्तान प्रतिनिधि

डीजल व पेट्रोल के मूल्यों में इजाफा व आम गृहणियों के बजट से लेकर भवन निर्माण तथा लोहे एवं अन्य सामग्रियों के मूल्यों में 15 से 20 फीसदी तक वृद्धि हुई है। जिसके कारण एक ओर रसोईघर का जायका बिगड़ने लगा है। वहीं छड़, सिमेन्ट, प्लास्टिक पाइप से लेकर किराना के सामानों के साथ सरसों तेल एवं मसाला में आशातीत वृद्धि हुई है।

इस बाबत बुधवार को शहर के कई गृहिणियों से सम्पर्क किया गया तो प्रोफेसर कॉलोनी की कुमारी सीमा, लालकोठी की मंजू कुमारी, शाइस्ता सुल्ताना, विजेयिता कुमारी एवं लोहिया नगर की अमृता प्रीतम ने बताया कि पिछले कुछ दिनों से हरी सब्जी सस्ता है। जबकि सरसों तेल 150 रुपये प्रति किलो, मिर्च मसाला, चीनी, डालडा सहित अन्य सामग्रियों में उछाल आया है। जबकि कपड़ा एवं फल के अलावा सौन्दर्य प्रसाधन में भी इजाफा हुआ है। इसके अलावा सूखा फल के मूल्यों में वृद्धि होने से घर का बजट बिगड़ने लगा है।

निर्माण सामग्रियों के कीमतों में हुई वृद्धि : इस बाबत मजदूरी कर अपना कच्ची मकान बनानेवाले चतुरी मंडल की माने तो 50 रुये प्रति किलो बिकनेवाला लोहे की कांटी अब 75 रुपये प्रति किलो हो गया है। भवन बना रहे चंदन कुमार एवं दीपक सिंह ने बताया कि लोहे का पाइप पहले 450 रुपये फीट उपलब्ध हो जाता था। लेकिन अब इसमें काफी वृद्धि हुई है। यह अब 670 रुपये फीट हो गया है। इसी तरह लोहे का छड़ जहां 5 हजार प्रति क्विन्टल था अब यह 6 से 7 हजार रुपये प्रति क्विन्टल हो गया है। इसके अलावा कपड़ा एवं अन्य सामग्री के मूल्यों में वृद्धि होने के कारण परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Increased price of petrol and diesel is expensive from food to construction materials