DA Image
13 अप्रैल, 2021|7:19|IST

अगली स्टोरी

यूजीसी की फटकार के बाद भी छात्रावास तैयार नहीं

default image

भागलपुर। कार्यालय संवाददाता

यूजीसी की फटकार के बाद भी टीएमबीयू प्रशासन छात्रावास निर्माण में तेजी नहीं ला रहा है। मामला बीएन कॉलेज महिला छात्रावास का है। 2019 में ही यूजीसी ने छात्रावास की राशि वापस करने की बात कही थी। उस समय तत्कालीन प्रभारी कुलपति ने यूजीसी को पत्र लिखकर विश्वविद्यालय द्वारा निर्माण कार्य पूरा करने का भरोसा दिलाया था। मगर अब तक विश्वविद्यालय अधिकारियों के पास ही टेंडर की फाइल रुकी हुई है। कॉलेज की प्राचार्या डॉ. नीलू कुमारी ने कहा कि विश्वविद्यालय के अधिकारियों को इसकी सूचना दे चुकी है। वहीं प्रभारी कुलपति ने भरोसा दिलाया कि निर्माण की प्रक्रिया शुरू करा दी जाएगी।

13 साल से अटका है 100 बेड का छात्रावास

यूजीसी (विश्वविद्यालय अनुदान आयोग) ने बालिका छात्रावास के लिए 50 लाख की राशि निर्गत की थी। मगर 13 साल बाद भी निर्माण कार्य पूरा नहीं हो पाया है। यूजीसी ने (2006-2007) में जारी अनुदान (ग्रांट) राशि से 100 बेड का छात्रावास का निर्माण कार्य होना है। इसके लिए विश्वविद्यालय की ओर से 32 लाख का दोबारा टेंडर की प्रक्रिया अपनायी गयी है। मगर एजेंसी को निर्माण की अनुमति नहीं दी गयी है। वहीं लॉकडाउन के बाद यूजीसी लगातार पत्राचार करके कॉलेज प्रशासन से अपडेट मांग रहा है।

तीन हजार छात्राएं करती हैं पढ़ाई

इंटर से लेकर स्नातक की कक्षा में तीन हजार के करीब छात्राएं पढ़ती हैं। छात्रावास की सुविधा नहीं होने की वजह से छात्राएं आसपास के इलाके में किराए पर कमरा लेकर रहती हैं। कई छात्राएं तो नामांकन लेकर इन्हीं वजह से कक्षा नहीं कर पाती हैं। छात्राओं ने कई बार प्राचार्य को लिखित आवेदन भी दिया। छात्रावास निर्माण के साथ ही कॉलेज परिसर में रहने की सुविधा मिलने लगेगी। प्राचार्या ने कहा कि छात्रावास का निर्माण होते ही छात्राओं की संख्या भी बढ़ जाएगी।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hostel not ready even after UGC reprimand