DA Image
21 जनवरी, 2020|5:03|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Hindustan Exclusive: पूर्वी बिहार और भागलपुर की जर्जर सड़कों से 450 लोग हर माह तुड़वा रहे हड्डियां

पूर्वी बिहार व भागलपुर जिले की जर्जर सड़कों से दुर्घटनाओं में काफी बढ़ोतरी हुई है। मायागंज अस्पताल के आंकड़े बताते हैं कि हर माह औसतन 450 लोग इन सड़कों पर दुर्घटना का शिकार होकर अपनी हड्डियां तुड़वा रहे हैं।
 
अस्पताल के हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. गोविंद मोहन बताते हैं कि खराब सड़कें जहां दुर्घटनाओं को बढ़ा रही है, वहीं रात में सड़कों पर रोशनी की कमी व तेज गति भी लोगों को अस्पताल पहुंचा रही है। हड्डी विभाग के ओपीडी और इमरजेंसी के सर्जरी और ट्रामा सेंटर में 2018 में दुर्घटना के शिकार 5325 मरीज इलाज के लिए आये। इनके हाथ-पैर या फिर शरीर के किसी अन्य हिस्से की हड्डी टूटी हुई थी। 2019 के नवंबर तक इस तरह के 5053 मरीज भर्ती हुए। आंकड़े बताते हैं कि इस तरह के मामलों में 47 प्रतिशत युवा मरीज होते हैं, जिनकी उम्र 16 से लेकर 35 साल के बीच की होती है। 

तेज गति भी दुर्घटना का बड़ा कारण 
डीएसपी ट्रैफिक आरके झा बताते हैं कि तेज गति से वाहन चलाने व जर्जर सड़कों से दुर्घटनाएं बढ़ रही हैं। इसके अलावा ट्रैफिक नियमों का पालन नहीं करने से भी वाहनचालक दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं। युवा न तो हेलमेट पहनना पसंद करते हैं और न ही नियंत्रण में गाड़ी चलाना चाहते हैं। यही कारण है कि बड़ी संख्या में युवा दुर्घटनाओं का शिकार हो रहे हैं।

केस नंबर 1 :
मायागंज अस्पताल में इलाजरत पीरपैंती के रहने वाले सुमित कुमार (23) ने बताया कि वह 25 नवंबर की रात 10 बजे इंग्लिश फरका गांव के सामने सड़क (हाइवे) पर गड्ढे में अचानक बाइक के साथ गिर गए। खराब सड़क होने से बाइक असंतुलित हो गई और दुर्घटनाग्रस्त हो गए। इलाज के लिए आए तो पता चला कि दाहिना पैर टूट गया है और दाहिने हाथ की कलाई में फ्रैक्चर है। 

केस नंबर 2:
अकबरनगर निवासी अभिषेक (35) 30 नवंबर की रात में भागलपुर में आयोजित शादी में भाग लेने के लिए आ रहे थे। तातारपुर चौक के पास जैसे ही मुड़े, विपरीत दिशा से तेज गति से आ रहे बाइकसवार ने ठोकर मार दी। बाइक लेकर गिर पड़े। मायागंज अस्पताल में हुई जांच में पता चला कि उनके बाएं हाथ की हड्डी टूट गयी है और सिर फट गया है। 
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Hindustan Exclusive: break bones of 450 people every month due to dilapidated roads of East Bihar and Bhagalpur